आगराः दंपति और उनके जवान बेटे की हत्या घर के अंदर कमरे में जली अवस्था में मिले तीनों के शव

  • एडीजी, एसएस एसपी ने पुलिस टीम के साथ किया मौका मुआयना
    आगरा। थाना एत्माद्दौला क्षे़त्र के नगला किशनलाल में एक दंपति और उनके जवान बेटे की रविवार रात हत्या कर दी गई। सोमवार सुबह तीनों के शव घर के अंदर जली अवस्था में मिले। घटना से इलाके में सनसनी फैल गई। एडीजी अजय आनंद और एसएस एसपी बबलू कुमार ने मौका मुआयना कर घटना का जल्द खुलासा करने का भरोसा दिया है। पुलिस को मौके से कुछ सुराग हाथ लगे हैं। जिनके आधार पर पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।
    नगला किशनलाल निवासी 55 वर्षीय रामवीर मकान में ही परचून की दुकान चलाते थे। परिवार में उनकी पत्नी मीरा और 22 वर्षीय इकलौता बेटा बबलू था। रामवीर रविवार शाम को ही ससुराल से लौट कर आए थे। सोमवार सुबह तकरीबन साढ़े छह बजे पड़ोस के लोग उनकी दुकान से सामान लेने आए। दुकान बंद मिली। उन्होंने आवाज लगाई, लेकिन घर से कोई जवाब नहीं मिला। लोगों ने घर के अंदर झांका देखा, तो धुआं निकल रहा था। अनहोनी की आशंका पर पड़ोस के लोगों ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची थाना पुलिस ने किसी तरह घर का दरवाजा खोला। पुलिसकर्मी घर के अंदर गए तो मंजर देखकर सन्न रह गए। रामवीर, पत्नी मीरा और पुत्र बबलू के शव एक ही कमरे में जली हुई हालत में पड़े थे। बबलू और मीरा के हाथ बंधे हुए थे, जबकि रामवीर के गले में फंदा पड़ा हुआ था। तिहरे हत्याकांड की जानकारी पर आगरा जोन के अपर पुलिस महानिदेशक (एडीजी) अजय आनंद, पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) ए. सतीश गणेश, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएस एसपी) बबलू कुमार फोर्स के साथ पहुंच गए। पुलिस अधिकारियों ने परिजनों और पड़ोस के लोगों से घटना के बारे में जानकारी ली और शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भिजवा दिया। पुलिस तिहरे हत्याकांड में बड़ी बारीकी से हर पहलू पर जांच कर रही है।

    नगला किशन लाल में एक ही परिवार के तीनों की हत्या हुई है। हत्या के बाद शवों को जलाने का प्रयास गया है। किसने हत्या की है, इसकी जांच में पुलिस जुट गई है। घटनास्थल से कुछ सुराग मिले हैं। जल्द की घटना का खुलासा होगा।
    अजय आनंद, एडीजी