आतंकियों के आका, माफियाओं के सरपरस्त अखिलेश को हुआ वहम: खन्ना

अखिलेश को अहम तो बहुत पहले से था। अब वहम भी हो गया है। उनके द्वारा लगातार दिए जा रहे उलजुलूल बयान इसके सबूत हैं। फिलहाल ये दोनों रोग लाइलाज हैं। लिहाजा वह इस तरह के बयान देते रहेंगे।

यह बातें प्रदेश सरकार के वरिष्ठ मंत्री सुरेश खन्ना ने शनिवार को जारी एक बयान में कही। उन्होंने कहा कि वैसे आतंकियों के आका, माफियाओं एवं अपराधियों के सरपरस्त, अराजकता एवं गुंडाराज के पर्याय, तुष्टीकरण की राष्ट्रघाती राजनीति करने वाली समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव से इससे अधिक की उम्मीद भी नहीं की जा सकती। झूठ बोलना उनकी आदत है और आदत जल्दी छूटती नहीं।

खन्ना ने कहा कि हो सकता है समाजवादी पार्टी का जो चरित्र है उसी तरह के लोग उनके यहां टिकट की लाइन के भी होड़ में लगे हो। अब अखिलेश उनको यश भारती या अन्य किसी सम्मान से नवाजने की स्थिति में तो कभी आने से रहे लिहाजा वह उनको टिकट से ही नवाज दें तो बेहतर।

खन्ना ने कहा कि काठ की हांडी बार-बार नहीं चढ़ती। समय के साथ पुराने जुमलों की धार कुंद हो जाती। कितनी बार भाजपा को कोसेंगे। वैसे भी बिल्ली के चाहने से छींका नहीं टूटता। आप भी कोसते रहिए। भाजपा का कुछ होने वाला नहीं। आप अपनी और अपनी पार्टी की चिंता करिए। समय मिले तो थोड़ी फिक्र अपने परिवार की भी कर लें। कई दलों से कूड़ा भरने की बजाय घर को सहेज लें तो बेहतर रहेगा।