मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वाराणसी को अत्याधुनिक अंडरग्राउंड लेवल पार्किंग के साथ बहुद्देशीय पार्क की दी सौगात

बेनियाबाग व मैदागिन शहर का मध्य क्षेत्र है, जहां से वाराणसी के धार्मिक व व्यापारिक स्थल काफी करीब हैं। लेकिन कोई व्यवस्थित पार्किंग की जगह नहीं होने के कारण अक्सर पर्यटक और व्यवसायी जाम में फंस जाते हैं। पार्किंग स्थल बन जाने से देश विदेश से आने वाले पर्यटकों और पूर्वांचल से आने वाले व्यापारियों की गाड़ियां सुरक्षित पार्क हो सकेंगी। उन्हें जाम और जुर्माना दोनों से निजात मिलेगा। यहां बहुउद्देशीय मैदान भी होगा, जहां जरुरत पड़ने पर हेलीकाप्टर भी उतारा जा सकता है।

बेनियाबाग में 90.42 करोड़ की लागत से पार्क व अंडरग्राउंड पार्किंग स्थल का निर्माण हो रहा है। 16,500 स्क्वायर मीटर में बेनियाबाग अंडरग्राउंड पार्किंग स्थल पर 470 चार पहिया तथा 130 दोपहिया वाहन पार्क हो सकेंगे। इन पार्किंग स्थलों के बन जाने के बाद शहर की यातायात व्यवस्था सुगम हो सकेगी। पार्किंग के निर्माण में भविष्य में बढ़ने वाली गाड़ियों का भी ध्यान रखा गया हैं। अत्याधुनिक पार्किंग में हाईड्रोलिक शाफ़्ट कार पार्किंग सिस्टम का प्रावधान है। जिसके लगने से दुगनी गाड़ियां पार्क की जा सकती हैं।

अंडरग्राउंड पार्किंग के ऊपर 13.5 एकड़ में पार्क बन रहा है। स्मार्ट सिटी के जी.एम. डॉ. डी वासुदेवन ने बताया कि पार्क खूबसूरत लैंडस्कैपिंग, फुटबाल मैदान,जूडो प्रैक्टिस एरिया, ओपन जिम, चेस गार्डन, एम्यूजमेंट एरिया यानी मनोरंजन के कई साधन से युक्त होगा। जहां वॉक-वे, वाटर स्पोर्ट्स स्थल, बच्चों को खेलने के लिए आकर्षक झूले, फूड कोर्ट, फ्लावर कोर्ट के अलावा वाटर बॉडी में बोटिंग की भी व्यवस्था रहेगी। ओपन एयर थियेटर, योगा गार्डन, वेंडिंग जोन, ओल्ड ऐज जोन का भी प्रावधान किया गया है। इसके अलावा वहां सेंसरी पार्क बनाया जा रहा है जहां दृष्टिबाधित लोग सुगंध व टच से नेचर के विभिन्न फूलों और चीजों का आनंद ले सकेंगे। इस तरह का गार्डन उत्तर प्रदेश में अपने आप में अनूठा गार्डेन होगा। बेनियाबाग पार्क को जिले के सेंट्रल पार्क के रूप में विकसित किया जा रहा है जो शहर का लैंड मार्क जैसा होगा। मार्च 2020 में शुरू हुआ पार्किंग निर्माण कार्य नवंबर 2021 तक पूरा होने सम्भावना है।