सीएम योगी आदित्यनाथ ने एनेक्सी भवन में विकास कार्यों की समीक्षा की

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यदायी संस्थाओं को दो टूक चेतावनी दी है कि विकास परियोजनाओं के कार्य समयबद्ध ढंग से और मानक के अनुरूप न होने पर संबधित के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई तय है। विकास का लाभ जनता को मिलना चाहिए और इसमें किसी भी तरह की कोताही अक्षम्य है।

मुख्यमंत्री रविवार को गोरखपुर एनेक्सी भवन में विकास कार्यों की समीक्षा बैठक कर रहे थे। उन्होंने कहा कि एम्स के शत प्रतिशत निमार्ण कार्यों को मानवशक्ति बढ़ाकर प्रत्येक दशा में अक्टबूर माह में पूरा कर लिया जाये। बताया कि प्रधानमंत्री द्वारा 18 अक्टूबर को इसका लोकापर्ण भी संभावित है। उन्होंने खाद कारखाने के शत प्रतिशत निमार्ण कार्यो को हर हाल में निधार्रित समय सीमा के अन्तगर्त पूरा करने का निर्देश देते हुए कहा कि कार्य की प्रगति में तेजी लाई जाये। सीएम योगी ने स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के दौरान कहा कि कोविड वैक्सीनेशन के द्वितीय डोज लगाने के काम में तेजी लाते हुए स्वास्थ्य सेवाओं को और बेहतर बनाएं।

सर्वे कर जलनिकासी का करें तात्कालिक इंतज़ाम
महानगर को जलजमाव से निजात दिलाने हेतु स्थायी समाधान करने का निर्देश देते हुए सीएम ने कहा कि जलनिकासी की तात्कालिक व्यवस्था सुनिश्चित की जाये ताकि जनमानस को परेशानियों को सामना न करना पड़े। सड़क निमार्ण की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि असुरन से मेडिकल कालेज रोड तथा मोहद्दीपुर से जंगल कौड़िया रोड पर जलजमाव के कारण स्थानीय लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कायर्दायी संस्था को निर्देशित किया कि इन दोनों सड़कों का सर्वे कर तात्कालिक प्रभाव से जलनिकासी की व्यवस्था सुनिश्चित करें। सीएम ने गोरखपुर-वाराणसी मार्ग के कार्य में मैनपावर बढ़ाकर तेजी लाने का निर्देश दिया। साथ ही कहा कि प्राथमिकता के आधार पर सड़कों को गड्ढ़ामुक्त किया जाये, किसी भी सड़क पर गड्ढ़ा नही होनी चाहिए।

सैनिक स्कूल के निर्माण में लाएं तेजी
शिक्षा विभाग की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि कायाकल्प योजना के तहत सभी विद्यालयों में कायर्वाही की जाये तथा विद्यालय में बच्चों को किताबें उपलब्ध कराते हुए सभी विद्यालय खुले और शिक्षक नियमित रूप से स्कूलों मे उपस्थित हों। उन्होंने सैनिक स्कूल के निमार्ण में प्रगति लाने के निर्देश दिये। बताया गया कि एक सप्ताह के अन्दर कार्य प्रारम्भ कर दिया जायेगा।

समय से रिपोर्ट न देने वाले लेखपालों पर हो कार्रवाई
मुख्यमंत्री ने कहा कि तहसील/थाना पर जन सुनवाई को प्रभावी बनाया जाये और अधिकारी जनता के प्रति संवेदनशील होकर सुनवाई करें, समस्याओं का त्वरित निस्तारण सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि यदि प्राथमिक स्तर पर ही जन समस्याओं का समाधान कर दिया जाये तो फरियादी को उच्च स्तर पर जाने की आवश्यकता नही होगी। उन्होंने कहा कि तहसील स्तर पर जो लेखपाल समय से रिपोर्ट प्रस्तुत नहीं करते है तो उनके विरूद्ध कार्रवाई सुनिश्चित की जाये। जन समस्याओं के निस्तारण में लापरवाही नहीं होनी चाहिए। बैठक में सांसद रविकिशन शुक्ल, राज्यसभा सदस्य जय प्रकाश निषाद, विधायक चौरीचौरा संगीता यादव, मण्डलायुक्त रवि कुमार एनजी, जिलाधिकारी विजय किरन आनंद सहित विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।