बस्ती में 4 कोरोना मरीजों को मिली छुट्टी

बस्ती

मनोज श्रीवास्तव

लखनऊ। बस्ती में कोरोना के इलाज के लिए तैयार एलवन मुंडेरवा सीएचसी से कोरोना की जंग जीत कर साबिर अली, अब्दुल वाहिद, मुख्तार अहमद तथा रोशन जहां जैसे अस्पताल से बाहर आये विजेता की तरह फूल-मालाओं से लाद दिये गये। सीडीओ सरनीत कौर ब्रोका तथा डिप्टी सीएमओ डॉ० फखरेयार हुसैन ने उन्हें घर को रवाना किया। इन चारों लोगों को दो एंबुलेंस 108 नंबर से इनके घरों को भेजा गया।

उल्लेखनीय है कि यह चारों लोग हसनैन जिसका बीआरडी मेडिकल कॉलेज में मृत्यु हुई थी, के परिवार के लोग हैं। इस वजह से ये कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे। इनका मुंडेरवा सीएससी में इलाज चल रहा था। कल इनकी रिपोर्ट दोबारा फिर से निगेटिव आयी थी। आज पूरी तरह स्वस्थ्य होकर यह लोग अपने घरों को गए हैं। डिप्टी सीएमओ फखरेयार हुसैन ने इन लोगों से कहा है कि अगले 14 दिन तक घरों में कोरेन्टाइन होकर रहेंगे, घर से बाहर नहीं निकलेंगे, साफ सफाई का विशेष ध्यान रखेंगे, नियमित रूप से मास्क पहनेंगे।

कोरोना से जंग जीतने वाले साबिर अली पुत्र अकबर अली 30 वर्ष तथा रोशन जहां उम्र 60 वर्ष दोनों निवासी जामा मस्जिद कोतवाली बस्ती, अब्दुल वाहिद पुत्र मुस्ताक अहमद 32 वर्ष मिल्लत नगर कोतवाली बस्ती तथा मुख्तार अहमद पुत्र अब्दुल रहमान 35 वर्ष तुरकहिया गांधीनगर के निवासी हैं। इनसे कहा गया कि यह आपस में सोशल डिस्टेंसिंग को मेंटेन करेंगे। लोगों को भी लॉक डाउन के दौरान घरों में रहने के लिए समझाएंगे।

सीडीओ सरनीत कौर ब्रोका द्वारा पूछे जाने पर साबिर अली ने बताया कि यहां डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ ने उनके साथ बहुत अच्छा व्यवहार किया। जिसके कारण वे कोरोना से जंग जीतने में सफल हुए। उनके खान-पान, दवा एवं दैनिक जीवन में हर स्तर पर सकारात्मक सहयोग किया। रोशन जहां ने बताया कि मुंडेरवा सीएससी में रहते हुए उन्हें किसी बात की कोई कमी नहीं हुई। यहां के स्टाफ ने उनका बहुत अच्छे से ख्याल रखा। हमेशा हौसला अफजाई करते रहें ताकि हम मायूस ना हो