मात्र एक जनरेटर के लिये मार डाला, अब कह रहा माफ कर दो

: बीते सप्ताह हुई हत्या का पुलिस ने किया खुलासा : चोरी के लिये हुई थी हत्या : सीओ सदर कुंवर प्रभात सिंह के नेतृत्‍व में मिली सफलता : चन्दौली : मुगलसराय कोतवाली अंतर्गत चंधासी पुलिस चौकी क्षेत्र स्थित एक वर्क शॉप में गत सप्ताह हुई एक युवक की निर्मम हत्या के मामले जांच कर रही पुलिस ने मुख्य अभियुक्त को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

इस बाबत मुगलसराय कोतवाली में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान उप पुलिस अधीक्षक सदर कुंवर प्रभात सिंह ने बताया कि गत 30/31 अगस्त की रात्रि में चंधासी स्थित मेहंदी बॉडी वर्क शॉप में नई बस्ती महमूदपुर निवासी आमिर नामक युवक, जो उसी वर्क शॉप में काम करता था, की निर्मम हत्या कर दी गयी थी। जिसकी जांच के लिए कोतवाल शिवानंद मिश्रा के नेतृत्व में एक टीम गठित की गई थी।

जांच के दौरान सर्विलांस व मुखबिर की सूचना पर मुख्य अभियुक्त विनोद विश्वकर्मा उर्फ विनीत विश्वकर्मा पुत्र सुरेश विश्वकर्मा निवासी सूजाबाद, थाना रामनगर जो उसी वर्क शॉप में कार्य करता था। उसे वाराणसी क्षेत्र के नेवादा चौराहे के पास से आमिर की बाइक के साथ गिरफ्तार किया गया। उसकी निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त किये गये लोहे के एंगल व आमिर की चोरी की गई मोबाइल बरामद कर उसे कोतवाली ले आयी।

पूछताछ के दौरान विनोद ने बताया कि वह वर्कशॉप पर रखे जनरेटर को चुराना चाहता था, जिसके लिए उसने अपने साथी की लोहे की एंगल से सर पर वार करके उसकी हत्या कर दी और जेनरेटर को चुराकर ले जाने की कोशिश की। असफल होने पर वह आमिर की बाइक और मोबाइल लेकर फरार हो गया। इसके बाद वह वाराणसी क्षेत्र के खालिसपुर सलारपुर में राजकुमार बेल्डर के यहाँ 4-5 दिन काम करने के बाद अपने फूफा के यहाँ जा रहा था कि पुलिस की गिरफ्त में आ गया।

उसने अपना जुर्म कबूल करने के बाद माफ करने की गुहार पुलिस से लगायी है। पुलिस ने उसके खिलाफ हत्‍या का मामला दर्ज कर, जेल भेज दिया है। गिरफ्तार करने वाली टीम में कोतवाल सहित एसआई सत्येंद्र विक्रम सिंह, हेड कॉन्स्टेबल प्रेम सिंह, प्रह्लाद सिंह, आरक्षी शैलेन्द्र उपाध्याय व गौरव सिंह शामिल रहे।