अखिलेश और प्रियंका गरजने वाले बादल हैं, बरसेंगे नहीं :खन्ना

लंबी-लंबी हांकना कुछ लोगों की आदत होती है। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका वाड्रा इन दिनों यही कर रहे हैं।
यह बातें भाजपा के वरिष्ठ नेता और उत्तर प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना ने बुधवार को जारी एक बयान में कही।

उन्होंने कहा कि दरअसल इन दोनों का खुद का कोई राजनैतिक संघर्ष नहीं। कांग्रेस की राजकुमारी प्रियंका वाड्रा और कथित धरती पुत्र के पुत्र अखिलेश यादव मुंह मे सोने का चम्मच लेकर पैदा हुए। इनको सब कुछ विरासत में मिला। इसिलए ये दोनों इन दिनों “हराम की बीड़ी लंबे कश” की कहावत को चरितार्थ कर रहे हैं। ऐसे लोगों के बारे में एक और मुहावरा है, “माले मुफ्त, दिले बेरहम”। ये चुनाव तक इसी तरह सिर्फ गाल बजाते रहेंगे। करना इनको कुछ भी नहीं है।

खन्ना ने कहा कि इनके वादे चुनावी हैं। ये गरजने वाले बादल हैं। बरसने वाले नहीं। जनता इनको बरसने का मौका ही नहीं देगी। आज जो जनता से आसमान से तोड़कर चांद-सितारे जमी पर लाने का वायदा कर रहे हैं उनसे पूछा जाना चाहिए कि सत्ता में रहते हुए उन्होंने क्या किया? वैसे जनता इनके सभी कारनामों से वाकिफ है। चुनाव में इनको मुंहतोड़ जवाब देने को तैयार बैठी है।