असामाजिक तत्वों को संरक्षण देती है भाजपा

लखनऊ। पेट्रोल व डीज़ल आदि जैसी जनहित की ज़रूरी चीज़ों की क़ीमतों में लगातार भारी वृद्धि करते रहने के बाद अब घरेलू व कमर्शियल दोनों ही गैस सिलेण्डरों के मूल्य में जबर्दस्ती बढ़ोत्तरी करके देश की आमजनता पर महंगाई का नया बोझ डालने के लिये बीजेपी की केन्द्र सरकार की तीखी आलोचना करते हुये बी.एस.पी. की राष्ट्रीय अध्यक्ष, उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने कहा कि ऐसा करके बीजेपी अपनी देशभक्ति व राष्ट्रवाद आदि का नया नमूना पेश कर रही है, जिससे देश के गऱीबों का आमजनहित बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है।

उत्तर प्रदेश की भाजपा महिला विधायक मनीषा अनुरागी के मन्दिर प्रवेश पर उसे गंगाजल से धुलवाने की घटना के साथ-साथ मंझनपुर में दलित महिला अफसर को पीने के लिए पानी नहीं देने आदि की इन्सानियत-विरोधी घटना की तीव्र निन्दा करते हुये उन्होंने कहा कि बीजेपी की सरकारों में इस प्रकार की जातिवादी व अमानवीय घटनाओं के साथ-साथ दलितों व पिछड़ों में जन्में उनके महान सन्तों, गुरुओं व महापुरुषों के प्रति असम्मान एवं इनकी प्रतिमाओं को खण्डित व अपमानित करने आदि की घटनायें ज्यादा बढ़ी हैं।

इसके बावजूद भी बीजेपी सरकारों का रवैया इन मामलों में ज्यादा उदासीन व ऐसे आपराधिक व असामाजिक तत्वों को संरक्षण देने का ही रहा है, जो अति निन्दनीय है। बीजेपी सरकारों की जातिवादी सोच व मानसिकता तथा ऐसे जातिवादी तत्वों के प्रश्रय देते रहने के कारण ही ऐसी घृणित, गैऱ-इन्सानी घटनायें कम होने का नाम ही नहीं ले रही हैं, जो बीजेपी की कथनी और करनी में विषमता को बेनकाब करता है और यह सब लोग अच्छी तरह से समझ रहे हैं।

पूर्व सीएम ने कहा कि असम में ४० लाख से अधिक गरीब व अनपढ़ मुस्लिम व ग़ैर-मुस्लिम धार्मिक व भाषाई अल्पसंख्यकों की नागरिकता समाप्त करके उन्हें देशविहीन बनाने पर बीजेपी व इनकी सरकार के शीर्ष नेतृत्व द्वारा गर्व का अनुभव व्यक्त करने के उनकी सस्ती सोच व संकीर्ण मानसिकता बताते हुये कहा कि देश की सवा सौ करोड़ गऱीब, मज़दूर, मज़लूम, किसान व बेरोजगार आदि विरोधी सरकार साबित होने के कारण ही बीजेपी द्वारा इस प्रकार की ध्यान बांटने वाली कार्रवाई की जा रही है ताकि चुनाव के समय लोग अपना सब दु:ख-दर्द भूलकर इनकी देशभक्ति की भूल-भूलैया में भटक जायें।