उत्तर प्रदेश बन रहा जगमग प्रदेश : डा. चन्द्रमोहन 

लखनऊ :  उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सफल नेतृत्व और ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा की कड़ी मेहनत ने ऊर्जा के क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव किया है। प्रदेश प्रवक्ता डा. चन्द्रमोहन ने भाजपा प्रदेश मुख्यालय पर पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि विपक्षी सरकारों में एक ओर जहां केवल कुछ चुनिंदा जिलों को ही बिजली मिलती थी, वहीं भाजपा सरकार में बिना किसी भेदभाव के बिजली उपलब्ध कराई जा रही है।

प्रदेश प्रवक्ता डा. चन्द्रमोहन ने कहा कि पिछली सपा और बसपा की सरकारों में एक ओर जहां ऊर्जा क्षेत्र भ्रष्टाचार से रोशन था, वहीं अब भाजपा सरकार में समाज के अंतिम व्यक्ति के दरवाजे तक बिजली पहुंचाई जा रही है। किसान और गरीब भाजपा सरकार की प्राथमिकता में हैं। किसानों को लाभ देने के लिये भाजपा सरकार ने फसल आधारित भुगतान योजना भी शुरू की है। कृषि कार्य के लिए ट्यूबवेल के बिल का हर महीने भुगतान करने वाले किसानों को बिल में 5 फीसदी की छूट भी दी जा रही है।

प्रदेश प्रवक्ता डा. चन्द्रमोहन ने कहा कि ट्यूबवेल सरचार्ज माफी योजना से 57 हजार से अधिक किसानों को फायदा हुआ है। वहीं दूसरी ओर इससे कुल 112 करोड़ का राजस्व भी पावर कारपोरेशन को हुआ है। अगले तीन सालों तक सभी गांवों में खुले तारों को हटाकर उनके स्थान पर एबी कंडक्टर लगाने की योजना पर भी सरकार काम कर रही है। इससे किसानों और ग्रामीणों को निर्बाध रूप से पर्याप्त बिजली मिल सकेगी।

प्रदेश प्रवक्ता डा. चन्द्रमोहन ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मंशा के अनुरूप किसानों की आय को दो गुना करने की दिशा में ऊर्जा विभाग नए आयामों पर काम कर रहा है। साल 2022 तक प्रदेश के सभी ट्यूबवेल को एनर्जी एफिशिएंट पम्प्स में बदल दिए जाने की योजना है। नए पम्पस को बदलने में कोई भी अतिरिक्त खर्च किसान को नहीं देना होगा। इससे उसके बिल में 30 से 35 फीसदी तक कि कमी आएगी। योजना पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर बनारस, गाजीपुर, बागपत और मथुरा में शुरू की जा चुकी है।