रबी की फसल से पहले सरकार ने किसानों को दी सस्‍ती खाद की सौगात- देवेंद्र

फास्‍फेटिक और पोटाश खाद पर केंद्र सरकार द्वारा बड़ी सब्‍सिडी की घोषणा का भारतीय किसान मंच ने स्‍वागत किया है। किसान मंच ने खाद सब्सिडी को रबी फसल से पहले किसानों को सरकार का तोहफा करार दिया है।

भारतीय किसान मंच के अध्‍यक्ष देवेंद्र तिवारी यहां जारी बयान में कहा कि इससे कृषि उपज की लागत कम होगी और उत्‍पादन बढ़ जाएगा। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने खाद सब्सिडी के जरिये एक बार फिर यह साबित किया है कि उनका हर कदम किसानों के हित में है। उन्‍होंने कहा कि खाद सब्सिडी का सीधा फायदा किसानों को रबी फसल की लागत में मिलेगा। इससे रबी सीजन के दौरान खाद की रियायती कीमतों पर किसानों को खाद आसानी से मिल सकेगी। मौजूदा सब्सिडी लेवल को जारी रखते हुए और डीएपी व सबसे ज्यादा खपत वाले तीन एनपीके ग्रेड से कृषि क्षेत्र को काफी फायदा होगा। मोदी सरकार के इस कदम से किसान खुश और उत्‍साहित हैं। आने वाले समय में इसका बड़ा प्रभाव कृषि उत्‍पादन की बढ़ोत्‍तरी और गुणवत्‍ता पर दिखाई देगा।

गौरतलब है कि सरकार ने मंगलवार को फॉस्फेटिक और पोटाश खाद पर 28,655 करोड़ रुपये सब्सिडी की घोषणा की है। जिससे रबी की बुवाई के सीजन में किसानों को ये सस्ती कीमत पर मिल सके। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की कैबिनेट कमेटी ने 1 अक्टूबर, 2021 से 31 मार्च, 2022 तक के लिए सब्सिडी दरों को मंजूरी दी है।

इससे जहां किसानों को खाद सस्‍ती मिलेगी वहीं उत्‍पादन भी बेहतर होगा। सब्सिडी के जरिये सरकार की मंशा कृषि उत्‍पादन के साथ किसानों की आय बढ़ाने की भी है।