धान खरीद में अनियमितता पर योगी नाराज, आठ प्रभारियों समेत 10 के खिलाफ एफआईआर

0
20
  • पांच प्रभारी निलंबित, चार को प्रतिकूल प्रविष्टि, 21 को चेतावनी और 178 को नोटिस

लखनऊ :  धान खरीद में अनियमितता को लेकर योगी सरकार का रुख बेहद कड़ा है। शासन स्तर पर ऐसी हर शिकायत का संज्ञान लिया जा रहा है और संबंधित के खिलाफ कड़ी कार्रवाई भी की जा रही है। इस क्रम में क्रय केंद्रों के आठ प्रभारियों समेत 10 लोगों के खिलाफ गंभीर धाराओं में एफआईआर दर्ज की जा चुकी है।

बरेली मंडल के पांच केद्र प्रभारियों को निलंबित किया जा चुका है। चार केंद्र प्रभारियों के खिलाफ प्रतिकूल प्रविष्टि, 21 के खिलाफ चेतावनी और 178 के खिलाफ कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। कुल मिलाकर अब तक 208 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जा चुकी है।

जिन क्रय केंद्र के प्रभारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है उनमें पीलीभीत के 3, बरेली, कानपुर नगर, हरदोई के एक-एक, शाहजहांपुर के दो हैं। इसके अलावा हरदोई के एक बिचौलिये और अन्य व्यक्ति के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज की गई है।

मालूम हो कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहले ही कह चुके हैं कि हर किसान के धान का एमएसपी (न्यूनतम समर्थन मूल्य) पर धान खरीदा जाना चाहिए। इसके लिए संबधित जिले के डीएम जवाबदेह होंगे।

इस क्रम में खरीफ के मौजूदा सीजन में अब तक 21 हजार से अधिक किसानों से 1542566 कुंतल धान की खरीद की जा चुकी है। कृषि विभाग के पोर्टल पर अब तक 477121 किसानों ने अपना पंजीकरण कराया है। इनमें से 293073 का सत्यापन भी हो चुका है।


FIRs against paddy purchase center in-charges and middleman

lucknow : Showing its resolve of zero-tolerance towards any irregularity in paddy purchase process, the Uttar Pradesh government has registered separate FIRs against 10 persons including eight paddy purchase centers in-charges for anomalies in paddy purchase. Those booked under serious charges also include one middleman and another person.

The action has been taken after Chief Minister Shri Yogi Adityanath Ji asked to be tough on those who are unsympathetic towards the cause of farmers. He also directed to send all those to jail who are found involved in such activities at the purchase centers.

The erring persons booked included three center in-charges of Pilibhit, two of Shahjahanpur and one each of Bareilly, Kanpur Nagar and Hardoi and also against a middleman and another person who were also found involved in anomalies.

Five center in-charges of Bareilly division have also been suspended, adverse entry has been given to in-charges of four centers. As many as 21 others have been handed warnings and 178 served show cause notices for laxity in the paddy purchase process.