बिजनौर जैसी घटना को सरकार रोकेगी और ऐसी वारदातें स्वीकार्य नहीं: योगी आदित्यनाथ

yogiji
      • विधानसभा के शीतकालीन सत्र में दूसरे दिन सीएम योगी का संबोधन
      • सिखों का कत्लेआम कराने वाले हमें ना सिखाएं: योगी आदित्यनाथ
      • देश की एकता को तार-तार करने वाले आज हम पर उंगली उठा रहे हैं

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को विधानसभा के शीतकालीन सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि किसी भी सभ्य समाज में हिंसा और अपराध के लिए कोई जगह नहीं होनी चाहिए। हमने प्रदेश के अंदर अच्छा माहौल बनाया है। बिजनौर जैसी घटना को सरकार रोकेगी और ऐसी वारदातें स्वीकार्य नहीं है। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए सीएम योगी ने कहा कि सीएए को लेकर विपक्ष हिंसा फैलाने की कोशिश और लोगों को भड़काने की कोशिश कर रहा है। सिखों का कत्लेआम कराने वाले हमें ना सिखाएं। जिन लोगों ने देश की एकता को तार-तार किया है, आज वही लोग उंगली उठाने का काम कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बिजनौर की घटना दुर्भाग्यपूर्ण है और सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। न्यायालय की सुरक्षा को लेकर सरकार के पास पूरी कार्ययोजना है और इसे लेकर कार्य जारी है। उन्होंने कहा कि अपराध और अपराधियों के खिलाफ प्रदेश सरकार जीरो टॉरलेंस की नीति अपना रही है। यही कारण है कि आज अपराधी या तो जेल के अंदर हैं या फिर प्रदेश छोड़कर चले गए हैं। उन्होंने कहा कि विपक्ष को सच स्वीकार करना सीखना चाहिए। सच स्वीकार न करने पर विपक्ष विरोध करता है। सीएम योगी ने कहा कि पिछली सरकार के गुंडाराज को प्रदेश की जनता ने झेला है। हमारी सरकार ने गुंडों और उपद्रवियों को कोई छूट नहीं दी है। गुंडागर्दी करने वालों को जेल में डालने का काम हमारी सरकार ने किया है।

मुख्यमंत्री ने विपक्ष पर हमला करते हुए कहा कि हम माहौल बिगाड़ने वालों को बर्दाश्त नहीं करेंगे। हमारी सरकार ने आंबेडकर के नाम पर राजनीति नहीं की। कश्मीर से धारा 370 हटाने का विरोध कांग्रेस करती रही, उन्हें इस बात का दर्द हो रहा है कि कश्मीर में विकास कैसे हो रहा है। उन्होंने कहा कि राम जन्मभूमि पर शांतिपूर्ण फैसला आया और हमने कहीं कोई हिंसा नहीं होने दी। इस साल प्रयागराज कुंभ का सफल आयोजन हमारी सरकार ने कराया। लोकसभा चुनाव, धारा 370 और राम मंदिर पर फैसला आने के बाद उत्तर प्रदेश में कहीं कोई घटना नहीं हुई। प्रदेश के अंदर सभी त्योहार शांतिपूर्ण तरीके से मनाए गए हैं। यही कारण है कि आज प्रदेश की कानून व्यवस्था देश के लिए और अन्य प्रदेशों के लिए नजीर बनी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कानून के दायरे में हर कोई अपनी बात रखे, अराजकता पैदा करने वाले अस्वीकार्य होंगे। उन्होंने कहा कि हर बहन-बेटी की सुरक्षा के लिए हम प्रतिबद्ध हैं और प्रदेश के हर नागरिक की जिम्मेदारी सरकार की है। सीएम ने यह भी कहा कि उन्होंने सदन में विपक्ष के उतावलेपन का जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि 2016 और 2019 के अपराधों की तुलना करें तो डकैती में 60.94 प्रतिशत, लूट में 46.42 प्रतिशत, हत्या में 20.95 प्रतिशत, बलवा में 27.19 प्रतिशत, रोड होल्डअप में 100 प्रतिशत, फिरौती के लिए अपहरण में 46 प्रतिशत, बलात्कार के मामले में 18.59 प्रतिशत की कमी आई है। नारी के सम्मान के दिशा में ही सरकार ने कन्या सुमंगला योजना और मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना चलाई है।