केन्‍द्र व राज्‍य सरकार ने 19 महीनों में 15 करोड़ लाभार्थियों को बांटा 122 लाख मीट्रिक टन अनाज

हर गरीब को फ्री राशन देने के वादे पर प्रदेश सरकार खरी उतरी है। केन्‍द्र व राज्‍य सरकार की ओर से कोरोना काल के दौरान शुरू हुए राशन वितरण में अप्रैल 2020 से अक्‍टूबर 2021 तक कुल 122 लाख मीट्रिक टन खाद्यान्‍न वितरित कर रिकार्ड कायम कर दिया है। इसमें राज्‍य सरकार की ओर से अप्रैल 2020 से अगस्‍त 2021 तक 2339556.740 मीट्रिक टन अनाज वितरित किया गया जबकि पीएमजीकेएवाई के तहत अप्रैल 2020 से अक्‍टूबर 2021 तक 9853889.085 मीट्रिक टन राशन बांटा जा चुका है। प्रदेश में करीब 33705755 राशन कार्ड धारक है। इनमें पीएमजीकेएवाई के तहत 96 प्रतिशत कार्ड धारकों को फ्री राशन सरकार की ओर से दिया गया है।

प्रदेश सरकार कोरोना काल में गरीब और बेसहारा लोगों का बड़ा संबल बनी है। जनता को बड़ी राहत देते हुए प्रदेश सरकार ने 80 हजार कोटेदारों के माध्‍यम से राशन वितरण हर गरीब व बेसहारा लोगों तक राशन पहुंचाने का काम किया है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना तहत चार चरणों में राशन वितरण किया गया। इसमें प्रथम चरण में अप्रैल से जून 2020 में 140603565 लाभार्थियों को 2085003 मीट्रिक टन खाद्यान्‍न वितरित किया गया। इसी तरह दूसरे चरण में जुलाई से नवंबर 2020 में 3536373.863 मीट्रिक टन गेहूं व चावल का वितरित किया गया जबकि तीसरे चरण मई व जून 2021 में 14 करोड़ से अधिक लाभार्थियों को 1413984.816 मीट्रिक टन खाद्यान्‍न वितरित किया गया। सरकार की ओर से जुलाई से अक्‍टूबर 2021 के बीच 96 प्रतिशत लाभार्थियों तक फ्री राशन पहुंचाने का काम किया। चार महीने में सरकार की ओर से 2818527.091 मीट्रिक टन खाद्यान्‍न लोगों तक पहुंचाया।

राज्‍य सरकार की ओर से भी लाभार्थियों को तीन महीने तक राशन दिया गया। प्रदेश में 3.59 करोड़ राशन कार्डों पर 14.80 करोड़ लाभार्थियों को मुफ्त राशन वितरित किया जा रहा है। प्रदेश सरकार की ओर से अप्रैल 2020 से अगस्‍त 2021 तक 2339556.740 मीट्रिक टन राशन वितरित किया गया है। प्रदेश सरकार की ओर से अन्त्योदय राशन कार्डधारक तथा पात्र गृहस्थी राशन कार्डधारकों तीन महीने का मुफ्त राशन दिया गया है। इसमें 12191646 अन्‍त्‍योदय कार्ड धारकों व पात्र गृहस्‍थी के 122164367 लाभार्थियों को राशन वितरित किया जा चुका है। सरकार आंगनबाड़ी सदस्‍यों की मदद से लाभार्थियों को घर-घर राशन पहुंचाने का काम भी कर रही है।