चंदौली परिवहन कार्यालय पर पुलिस की छापेमारी में धराये 4 दलाल,इलेक्ट्रॉनिक उपकरण सहित भारी मात्रा में फर्जी दस्तावेज बरामद

0
9

चंदौली एआरटीओ कार्यालय पर पुलिस की छापेमारी में 4 दलाल गिरफ्तार,इलेक्ट्रॉनिक उपकरण सहित भारी मात्रा में फर्जी और कूटरचित दस्तावेज बरामद : चंदौली : लगातार चर्चा में रहा जनपद के परिवहन विभाग का कार्यालय एक बार फिर चर्चा में है। परिवहन कार्यालय के इर्दगिर्द दलालों के जमावड़ा रुकने का नाम नहीं ले रहा है। जहां पुलिस ने औचक छापेमारी कर 4 दलालों को भारी मात्रा में कूटरचित दस्तावेजों व इलेक्ट्रॉनिक उपकरण के साथ गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। इस कार्रवाई से परिवहन विभाग सहित दलालों में हड़कंप मच गया है।

एसपी हेमन्त कुटियाल को लगातार दलालों के सक्रिय रहने की सूचना मिल रही थी। जिस पर लगाम लगाने और इसके नेक्सस को ध्वस्त करने के लिए अलीनगर एसओ,स्वाट टीम व सर्विलांस सेल की संयुक्त टीम गठित कर कार्रवाई का निर्देश दिया गया था।

इसी क्रम में क्षेत्राधिकारी सदर प्रभात कुमार सिंह के नेतृत्व में सोमवार अपराह्न सिविल ड्रेस में अलीनगर थानाध्यक्ष संतोष कुमार सिंह,स्वाट टीम प्रभारी अभय प्रताप सिंह व सर्विलांस सेल प्रभारी अतुल नारायण सिंह,एसआई सत्यनारायण शुक्ला व अमित कुमार, हेड कॉन्स्टेबल विवेकानंद, उमाकांत,आनंद सिंह,प्रमोद कुमार सिंह व आरक्षी धर्मेंद्र यादव,आनंद कुमार,प्रेम प्रकाश यादव,देवेंद्र कुमार तथा अमृतांशु सिंह अचानक एआरटीओ कार्यालय पहुंचे और कार्यालय के आसपास खुले दुकानों में छापेमारी करनी शुरू कर दी।

अचानक कार्रवाई होता देख कई दुकानों के शटर बन्द कर दलाली की दुकान चला रहे दुकानदार फरार हो गये लेकिन मौके से चार लोगों को दो प्रिंटर,4 लैपटॉप, दो मुहर,2 इंक पैड,भारी मात्रा में कूटरचित दस्तावेज,स्टाम्प पेपर,कूटरचित ड्राइविंग लाइसेंस, कूटरचित आधार कार्ड,फर्जी इंश्योरेंस, आरसी, फिटनेस सहित अन्य दस्तावेज जो प्रथम दृष्टया फर्जी थे बरामद कर अपने कब्जे में लेकर थाने ले आये।

जहां सभी के विरुद्ध विधिक कार्रवाई की गई। एसपी कार्यालय स्थित सभागार में अयोजित प्रेसवार्ता के दौरान एएसपी प्रेमचंद ने बताया कि परिवहन विभाग में दलालों के सक्रिय रहने की लगातार सूचना के बाद यह कार्रवई की गई है।

गिरफ्तार किए गए सभी चारों व्यक्तियों के विरुद्ध अलीनगर थाने में आईपीसी की धारा 419,420,467,468,471,474 व 484 के तहत मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की गई है।सभी को न्यायालय में पेश किया गया जहां से सभी को जेल भेज दिया गया।