किशोर अपहरण कांड : सिगरेट लाने से मना करने पर दोस्त ने की थी सिद्धार्थ की हत्या, दो अरेस्‍ट

  • मामले को भटकाने के लिये रचा अपहरण का नाटक

चंदौली: सदर कोतवाली अंतर्गत बिछियां गांव के 17 वर्षीय किशोर सिद्धार्थ उर्फ वीरु की हत्या का पुलिस अधीक्षक हेमन्त कुटियाल ने खुलासा करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। खुलासे के बाद सभी तरह की चर्चाओं पर विराम लग गया है।

बीती रात आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद किशोर का शव पुलिस ने बरामद किया था। देर रात्रि पूरे मामले से पर्दा हटाते हुए एसपी हेमंत कुटियाल ने बताया कि सिद्धार्थ की हत्या उसी के दोस्त अमित ने अपने भाई के साथ मिलकर सब्जी काटने वाले चाकू से कर दी थी तथा उसके शव को अपने ही घर के पिछले भाग में जमीन में गाड़ कर नमक और केमिकल डालने के बाद मिट्टी से ढंक दिया था।

एसपी  ने बताया कि गुरुवार को मुकदमा दर्ज होने के बाद सदर कोतवाल बृजेश चंद्र तिवारी व मुगलसराय कोतवाल शिवानंद मिश्रा के नेतृत में टीम गठित कर पूरे मामले का पर्दाफाश करने का निर्देश दिया गया था। प्रारंमिक जांच में पुलिस ने अमित कुमार उर्फ गोलू पुत्र रामजनम निवासी गोकुलपुर अमड़ा व कन्हैया खरवार पुत्र मुन्ना खरवार निवासी झांसी लौंदा को हिरासत में लिया।

पुलिस ने जब दोनों से पूछताछ की तो पहले तो दोनों इधर उधर की बात करते रहे। इसी बीच अमित के शरीर पर दो तीन जगह खरोंच और सीने पर दांत गड़ने का निशान देखकर जब पुलिस ने चोट के बाबत पूछा तो दोनों ने अपना अपराध कुबूल कर लिया। उनलोगों ने बताया कि मंगलवार को अमित व कन्हैया शराब पी रहे थे, जहां सिद्धार्थ भी था।

उसे सिगरेट लाने के लिये बोला गया तो उसने सिगरेट लाने से मना कर दिया। इसके बाद गाली गलौज और झगड़ा हो गया। इसी विवाद और गुस्से में दोनों भाइयों ने मिलकर सब्जी काटने वाले चाकू से सिद्धार्थ की हत्या कर दी और अपने ही घर के पिछले हिस्से में शव को दफना दिया।

इस बाबत एसपी ने यह भी बताया कि शराब पीने के दौरान सिगरेट लाने से मना करने के बाद हुये विवाद और गुस्से में दोनों भाइयों ने सिद्धार्थ की हत्या कर दी। घर के पीछे शव को गाड़ दिया था। पुलिस को भटकाने और जांच की दिशा को दूसरी तरफ उलझाने के लिए आरोपितों ने दो दिन बाद मृतक का मोबाइल आन किया और वाराणसी बॉर्डर पर उसके भाई को सिद्धार्थ के ही फोन से कॉल करके रुपये की मांग की।

फोन करने के अलावा आरोपियों ने दो बार क्रमशः 20 लाख और 25 लाख रुपये की फिरौती का मैसेज भी किया ताकि पुलिस का ध्‍यान भटक सके। एसपी ने देर रात दोनों आरोपियों को मीडिया के समक्ष प्रस्तुत किया। इस दौरान एएसपी प्रेमचंद भी मौजूद रहे। दोनों को शनिवार को कोर्ट में पेश कर जेल भेजा जायेगा।