विश्वविद्यालय के शिलान्यास की तैयारियों का जायजा लेने पहुंचे सीएम

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राज्य विश्वविद्यालय के शिलान्यास की तैयारियों का जायजा लेने शुक्रवार को आजामगढ़ पहुंचे। उन्होंने पार्टी पदाधिकारियों और अधिकारियों के साथ बैठक की और आवश्यक निर्देश दिए। इस दौरान मुख्यमंत्री ने मीडिया से कहा कि आज़मगढ़ की जो पहचान पहले थी, जिसके कारण यहां के लोगों को दूसरी जगह पर होटल में कमरे नहीं मिलते थे, आज वही आज़मगढ़ विकास की राह पर अग्रसर है। पूर्वांचल एक्सप्रेस वे से विकास को गति मिलेगी, एयरपोर्ट जल्द शुरू होगा, यूनिवर्सिटी का शिलान्यास 13 नवंबर को होगा, जिससे आज़मगढ़ को नई पहचान मिलेगी।

आज़मगढ़ जिले में राज्य विश्वविद्यालय की नींव रखने के लिए गृहमंत्री अमित शाह 13 नवंबर को आएंगे। उनके आगमन के मद्देनजर जिला प्रशासन ने युद्धस्तर पर तैयारी शुरू कर दी है। इसकी समीक्षा के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार दोपहर राज्य विश्वविद्यालय के आजमगढ़ पहुंचे। मुख्यमंत्री लगभग 2 घंटे तक रहे। इस दौरान उन्होंने जिले के सदर तहसील क्षेत्र में यशपालपुर (आजमबांध) गांव में विश्वविद्यालय भवन स्थल के पास पार्टी पदाधिकारियों और अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। इससे पहले 1 नवम्बर को प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल भी दो दिवसीय जिले की दौरे पर आई थीं और विश्वविद्यालय की तैयारियों के संबंध में अधिकारियों के साथ बैठक की थी।

आजमगढ़ जिले के लोग लम्बे समय से विश्वविद्यालय की मांग कर रहे थे।
ऐसे में प्रदेश की योगी सरकार ने आजमगढ़ में विश्वविद्यालय के निर्माण का निर्णय लिया है। इसके लिए 52.7 एकड़ जमीन का आवंटन किया गया है। विश्वविद्यालय के निर्माण के लिए कार्यदायी संस्था लोक निर्माण विभाग को नामित किया गया है। पहले चरण के लिए 10805,48 लाख रुपये बजट का प्रावधान है। इंजीनियरों द्वारा डिजायन किया गया विश्वविद्यालय का मॉडल होगा। प्रदेश सरकार 2022 के विधानसभा चुनाव से पहले जिले की जनता को विश्वविद्यालय का तोहफा देना चाहती है।