कांग्रेस की मानसिकता देश की एकता और अखंडता के लिए खतरा : सिद्धार्थ नाथ सिंह

उत्तर प्रदेश के वरिष्ठ मंत्री और सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थ नाथ सिंह ने हिंदुत्व और हिंदुओं के बारे में कांग्रेस की मानसिकता पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि यही कांग्रेस का चरित्र है। उन्होंने कहा कि इस पर कांग्रेस को पूरे देश को स्पष्टीकरण देना चाहिए कि क्या हिंदुओं के बारे में उसकी यही सोच है और अगर है तो क्यों है।

उन्होंने बुधवार को जारी बयान में कहा कि यह आश्चर्य की बात है कि कोई राजनीतिक दल और उसके नेता इतने हिंदू विरोधी भी हो सकते हैं कि वह राष्ट्रवादी हिंदुओं की तुलना आईएसआईएस और बोको हरम जैसे आतंकवादी संगठनों से करे। इस तरह की टिप्पणी सांप्रदायिक एकता ही नही बल्कि देश की अखंडता के लिए भी खतरा है। भारत के हिंदू इसे कभी बर्दाश्त नहीं करेंगे क्योंकि ऐसे विचार मात्र उनकी राष्ट्रवादी भावना का अपमान हैं।

सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि राजनीतिक मतभेद अपनी जगह हैं लेकिन राष्ट्रवादी विचारधारा सभी पार्टियों के लिए एक होनी चाहिए। उन्होंने कहा यह अफसोस की बात है कि वरिष्ठ कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने अपनी पुस्तक में अपने मुस्लिम प्रेम और हिंदू विरोध के कारण सारी सीमाएं पार करते हुए हिंदुओं के बारे में निहायत आपत्तिजनक टिप्पणी की ।

उन्होंने कहा कि सलमान खुर्शीद को केवल हिंदुओं से ही नही बल्कि समस्त राष्ट्रवादी लोगों से माफी मांगनी चाहिए। यही नही कांग्रेस पार्टी को भी सामने आकर स्पष्ट करना चाहिए कि उनके वरिष्ठ नेता के विचार से उसकी कितनी सहमति है।