कोरोना संकट से मुकाबला करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गठित की कई कमेटियां

hotspot
  • प्रधानमंत्री के नेतृत्व में कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में हम सफलतापूर्वक अपना योगदान देंगे: योगी आदित्यनाथ
  • प्रदेश में कोई संकट न आए इसके लिए प्रदेश सरकार द्वारा गठित कमेटियां 15 अप्रैल के बाद की योजनाओं पर कार्य करेंगी
  • योगी आदित्यनाथ ने सभी धर्म गुरुओं से की अपील, कहा- पर्व और त्योहार पर कोई सामूहिक आयोजन न किया जाए
  • प्रदेश सरकार पूरी तरीके से भारत सरकार की गाइडलाइन का पालन करेगी
  • पहले चरण की खाद्यान्न उपलब्ध कराने की व्यवस्था संपन्न, 15 अप्रैल से इस कार्य को फिर आगे बढ़ाया जाएगा

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को अपने वीडियो संदेश में कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत जिस लड़ाई को लड़ रहा है, उस लड़ाई को हम सफलतापूर्वक आगे बढ़ाने में अपना योगदान देंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोई संकट न आए इसके लिए हमारी सरकार ने कमेटियां गठित की हैं जो 15 अप्रैल के बाद की योजनाओं पर कार्य करेंगी।

सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश सरकार पूरी तरीके से केंद्र सरकार की गाइडलाइन का पालन करेगी। उन्होंने कहा कि उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की अध्यक्षता में कमेटी बनाई गई है जो प्रदेश में लाकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए निर्माण कार्यों की योजना पर काम करेगी ताकि श्रमिकों को भी काम मिल सके।

सीएम योगी ने कहा कि लॉक डाउन के बाद केंद्र सरकार द्वारा दिए गए गरीब कल्याण पैकेज से उत्तर प्रदेश में 2 करोड़ 34 लाख किसान लाभान्वित हुए हैं। 3 करोड़ 46 लाख से अधिक महिला जनधन खातेदार लाभान्वित हुई हैं। जिनके खाते में केंद्र सरकार द्वारा 500 रुपए भेजे गए हैं। स्वास्थ्य कर्मियों को 50 लाख का बीमा कवर भी दिया गया है। छूटे हुए सेवाकर्मी जैसे पुलिस, होमगार्ड, सफाई कर्मियों को प्रदेश सरकार की तरफ से 50 लाख का बीमा कवर उपलब्ध कराया गया है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि प्रदेश में अब तक 3 करोड़ 54 लाख परिवारों को खाद्यान्न उपलब्ध कराने की व्यवस्था पहले चरण की संपन्न हो गई है और 15 अप्रैल से हम इस कार्य को आगे बढ़ाने जा रहे हैं। योगी ने कहा कि बच्चों की पढ़ाई में बाधा ना पहुंचे इसके लिए ऑनलाइन पाठ्यक्रम को आगे बढ़ाएंगे। ऑनलाइन पाठ्यक्रम को कैसे आगे बढ़ाया जा सकता है इस पर भी एक कमेटी कार्य करेगी। उन्होंने बताया कि वित्त मंत्री सुरेश खन्ना की अध्यक्षता में कमेटी रेवेन्यू के फ्लो को कैसे बढ़ाया जा सके, इस पर कार्य करेगी। जिससे राजस्व की कमी प्रदेश में न हो। औद्योगिक विकास के साथ एमएसएमई सेक्टर में भी हम लोगों को क्या कदम उठाने चाहिए इस पर भी एक कमेटी बनाई गई है, जो अपनी रिपोर्ट उपलब्ध कराएगी।

सीएम योगी ने कहा कि कृषि मंत्री की अध्यक्षता में एक कमेटी किसानों से जुड़ी हुई समस्याओं का समाधान करेगी। मनरेगा को जोड़कर कैसे हम कार्य कर सकते हैं इस पर कमेटी योजनाबद्ध तरीके से कार्य करेगी। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए डॉक्टर, नर्स स्टाफ आदि को सुरक्षित रखते हुए इनको प्रशिक्षण और पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट उपलब्ध कराकर इमरजेंसी सेवाएं जारी रखने के लिए यह कमेटी काम करेगी।

सीएम योगी ने अपील करते हुए कहा कि आगामी दिनों में कई धार्मिक और राष्ट्रीय कार्यक्रम आने वाले हैं, इसलिए सभी धर्म गुरुओं से अपील है कि पर्व और त्योहार पर कोई सामूहिक आयोजन न किया जाए। क्योंकि इस तरह के आयोजन बीमारी या संक्रमण को बढ़ा सकते हैं। उन्होंने डा. भीमराव अंबेडकर की जयंती के कार्यक्रम पर सभी मंत्रियों और अधिकारियों को कार्यालय में केवल अकेले ही पुष्पांजलि और माल्यार्पण करने को कहा गया है।