उत्तर प्रदेश बना डिफेंस एक्सपो 2020 का ‘महाकुंभ’ : योगी

  • मुख्यमंत्री ने डिफेंस एक्सपो 2020 के समापन कार्यक्रम को किया संबोधित
  • इस कार्यक्रम से सभी ने भारत के शौर्य, पराक्रम औऱ गौरव को देखा भी और महसूस भी किया
  • डिफेंस एक्सपो के माध्यम से डिफेंस कॉरिडोर के लिए मजबूत आधार उपलब्ध हुआ
  • उत्तर प्रदेश रक्षा उत्पादन के नए हब के रूप में विकसित होने में सफल होगा

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि डिफेंस एक्सपो 2020 डिफेंस की दृष्टि से अपने आप में एक महाकुंभ हो गया है। जहां सभी ने भारत के शौर्य, पराक्रम औऱ गौरव को देखा भी और महसूस भी किया। उन्होंने कहा कि अब उत्तर प्रदेश की क्षमता पर किसी को सवाल नहीं खड़ा करना चाहिए। उत्तर प्रदेश रक्षा उत्पादन के एक नए हब के रूप में विकसित होने में सफल होगा।

यह बातें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को वृंदावन में आयोजित डिफेंस एक्सपो 2020 के समापन कार्यक्रम के दौरान कहीं। उन्होंने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि डिफेंस कॉरिडोर के लिए मजबूत आधार इस आयोजन के माध्यम से उपलब्ध हुआ है। पहली बार 40 देशों के रक्षा मंत्री, 70 देशों की सहभागिता के साथ 3 हजार से अधिक विदेशी डेलीगेट्स, 1 हजार से अधिक पूरे देश से डेलीगेट्स इस आयोजन में सहभागी बने हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विगत ढाई वर्षों में हमें अनेक आयोजन करने के मौके प्राप्त हुए। खासतौर पर 2018 में इसी फरवरी माह में उत्तर प्रदेश के इतिहास का पहला इन्वेस्टर्स समिट हमारी सरकार ने यहां संपन्न किया था। लोगों में यह धारणा थी कि उत्तर प्रदेश में निवेश कौन करेगा, लेकिन मुझे बताते हुए खुशी हो रही है कि उस समय हमारे पास 5 लाख करोड़ रुपये के निवेश के प्रस्ताव आए थे जिनमें से ढाई लाख करोड़ के प्रस्तावों को अब तक हम सफलतापूर्वक जमीन पर उतार चुके हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इन्वेस्टर्स समिट के 6 महीनों के अंदर हमने ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी का आयोजन भी कर दिया था। इस आयोजन में 6 महीने के अंदर लगभग 65 हजार करोड़ की योजनाओं को धरातल पर उतरना उत्तर प्रदेश जैसे राज्य के लिए अपने आप में बड़ी उपलब्धि है। यही नहीं हमारी सरकार ने दुनिया का सबसे बड़ा समाजित, सांस्कृतिक और आध्यात्मिक आयोजन ‘प्रयागराज कुम्भ’ भी सफलतापूर्वक आयोजित कराया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रवासी भारतीय सम्मेलन हो या फिर कोई अन्य कार्यक्रम हमने सभी कार्यक्रमों को सफलता पूर्वक आयोजित कराया। इसी साल जनवरी माह में लखनऊ में नेशनल यूथ फेस्टिवल का कार्यक्रम आयोजित हुआ था जिसमें पूरे देश से सात हजार से अधिक युवा भागीदार बने थे। वहीं 16-17 जनवरी को ही प्रदेश में कॉमन वेल्थ पार्लियामेंट्री एसोसिएशन का भी आयोजन यहां पर संपन्न कराया गया। इस दौरान हमारी सरकार को मां गंगा को आस्था और अर्थव्यवस्था से जोड़ने के लिए ‘गंगा यात्रा’ का आयोजन भी प्रदेश में किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे खुशी है कि उत्तर प्रदेश की हमारी टीम ने रक्षा मंत्रालय के साथ मिलकर इस आयोजन को सफलता की एक नई ऊंचाइयों तक पहुंचाया है। हम लोगों ने तय किया था कि यह कार्य ऐसा होना चाहिए जो सफलता की ऊंचाइयों को इस रूप में छुए जो उत्तर प्रदेश के अनुरूप हो। इस कार्यक्रम के दौरान उत्तर प्रदेश सरकार के साथ 23 ऐसे एमओयू हुए हैं जिनमें 50 हजार करोड़ के निवेश के प्रस्ताव हमें प्राप्त हुए हैं। जिसका मतलब है कि उत्तर प्रदेश के तीन लाख युवाओं के लिए नौकरी व रोजगार विकसित हुए हैं।

उत्तर प्रदेश में हैं अद्भुत क्षमता : राजनाथ सिंह

वहीं कार्यक्रम में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि कुम्भ, प्रवासी भारतीय दिवस, नेशनल यूथ फेस्टिवल एवं डिफेन्स एक्सपो का सफल आयोजन कर उत्तर प्रदेश ने सिद्ध कर दिया है कि वह कोई समान्य प्रदेश नहीं है बल्कि इस प्रदेश में अद्भुत क्षमता है। उन्होंने कहा कि देश के सबसे बड़े डिफेन्स एक्सपो की अभूतपूर्व सफलता ‘डिफेन्स’ के प्रति समस्त देशवासियों की आशाओं और आकांक्षाओं का प्रतीक है। ऐसे बड़े आयोजन का लखनऊ में संपन्न होना हम सबके लिए खुशी का विषय है।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि यह प्रदर्शनी भारतीय रक्षा निर्माण क्षेत्र के लिये एक ‘सफलता’ है जिसने अंतरराष्ट्रीय सहयोग के तमाम रिकॉर्ड तोड़ दिये हैं। इस आयोजन ने दिखा दिया है कि नया भारत विश्व की बड़ी शक्तियों से कदम से कदम मिलाकर आगे बढ़ने के लिये तैयार है। यह आयोजन एक शंखनाद है कि आने वाला समय भारत का होगा। आने वाले वक्त में हमारा देश ग्लोबल डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग का प्रमुख केन्द्र बनेगा। इस एक्सपो के दौरान 200 से ज्यादा एमओयू और समझौते हुए। इन समझौतों ने एक नया इतिहास रच दिया है।