हल्‍की बारिश में डूब गए राजधानी के ये इलाके, घरों के भीतर पहुंचा पानी (देखें वीडियो)

: नगर निगम की लापरवाही से नागरिक परेशान : ट्रैफिक व्‍यवस्‍था भी रही अस्‍त-व्‍यस्‍त :  लखनऊ : तीन से चार घंटे की बारिश में ही लखनऊ तैरता नजर आने लगा। राजधानी की कई कालोनियां सीवर एवं नाली जाम के चलते पानी में डूब गए। बरसात का गंदा पानी लोगों की घरों तक पहुंच गया। बारिश के दौरान पूरी राजधानी अस्‍त-व्‍यस्‍त हो गई। सड़कों पर जाम लग गया।

बारिश के चलते इंदिरानगर के कई इलाके पानी में डूब गए। सीवर एवं नालियों के चोक होने के चलते पानी लोगों के घरों के भीतर तक घुस गया। नीचे रखे सामानों तक बारिश का गंदा पानी पहुंच जाने के चलते लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। परेशान लोग नगर निगम को कोसते नजर आए।

इसके अलावा रवींद्रपल्‍ली, महानगर, विकासनगर, एचएएल के सामने कई सड़कें बारिश की पानी से लबालब भरी नजर आईं। इन सड़कों पर घंटों पानी जमा रहा। लोग नगर निगम की व्‍यवस्‍था से हलकान नजर आए। नगर निगम कर्मियों की लापरवाही से आधे से ज्‍यादा लखनऊ का सीवर और नाली जाम है।

वरिष्‍ठ पत्रकार राकेश श्रीवास्‍तव ने कहा कि सरकार एक तरफ स्‍मार्ट सिटी बनाने के ख्‍वाब दिखा रही है, दूसरी तरफ जो सिटी है उसके निवासियों का सही ढंग की सुविधा प्रदान करने में सरकार को पसीने आ जा रहे हैं। अगर कुछ घंटों की बारिश में पूरी राजधानी अस्‍त-व्‍यस्‍त हो गई तो पूरे दिन की बारिश में तो यह डूब जाएगी।

गौरतलब है कि पिछले कई सालों से नगर निगम पर भाजपा का कब्‍जा है, लेकिन शहर को स्‍मार्ट बनाने वाले दल के लोग शहर के नाली और सीवर सिस्‍टम को स्‍मार्ट नहीं बना पाए हैं। मनीष अग्रवाल कहते हैं कि जो सरकार सीवर-नाली जैसी समस्‍या का समाधान ठीक ढंग से नहीं कर सकती, वह स्‍मार्ट सिटी क्‍या बनाएगी?