भ्रष्‍टचार एवं रेप के आरोपी गायत्री प्रजापति के ठिकानों पर ईडी की छापेमारी

लखनऊ। दुष्कर्म, अवैध खनन तथा भ्रष्‍टाचार के आरोप में जेल में बंद पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति और उनके निजी चालक रामराज उर्फ छोटू के अमेठी स्थित घर में बुधवार सुबह ईडी ने छापेमारी की। इलाहाबाद से पहुंची ईडी की टीम पुलिस टीम के साथ दोनों स्‍थानों पर एक साथ पर छापेमारी की।

टीम में करीब आधा दर्जन ईडी के अधिकारी तथा स्थानीय पुलिस बल के दर्जनों जवान शामिल हैं। बुधवार सुबह करीब 5  बजे जिला मुख्यालय पहुंची ईडी की टीम दोनों स्थानों पर रवाना हुई। 7  बजे ईडी की टीम ने आवास विकास स्थित गायत्री प्रजापति के निजी आवास एवं चालक रामराज के घर में छापेमारी की।

आय से अधिक संपत्ति के मामले में गायत्री का बड़ा पुत्र अनिल भी जेल में बंद है। बताया जाता है कि चालक रामराज उर्फ छोटू के पास भी 200 करोड़ की प्रापर्टी है। घर के अंदर ईडी की टीम सभी दस्तावेज खंगाल रही है। घर के अंदर नौकर मौजूद है। यह छापेमारी गायत्री के पुत्र अनिल प्रजापति की कंपनियों की जांच हेतु की गई है।

ईडी  विभूति खंड के ओमेक्‍स में अनिल के कार्यालय पर छापेमारी की है। ईडी गायत्री तथा उसके पुत्र की बेनामी संपत्तियों तथा हवाला ट्रेडिंग की जांच कर रही है। अखिलेश यादव की सरकार में ताकतवर मंत्री के रूप में शुमार रहे गायत्री प्रजापति लंबे समय से जेल में बंद हैं। पैसे लेकर गायत्री को जमानत देने के आरोप में एक जज भी नप चुके हैं।