लगातार चौथी बार कायम होगा योरोप का वर्चस्‍व

game

राज बहादुर सिंह

: फीफा 2018 ट्रॉफी योरोप में ही रहेगी : लखनऊ : यूं तो क्वार्टर फाइनल में ही योरोपियन टीमों का दबदबा था। आठ में से छह टीमें योरोप से थीं। दो गैर योरोपियन टीमों, ब्राज़ील और उरुग्वे, के हार जाने के साथ ही तय हो गया है कि सेमी फाइनल में चारों टीमें योरोप की ही होंगी। इन्हीं में से किसी के सिर पर ताज सजेगा।

फ्रांस और बेल्जियम पहुंच चुकी हैं और अब इंग्लैंड-स्वीडन और रूस-क्रोशिया में से एक-एक टीम पहुंचेगी। पिछले वर्ल्ड कप के फाइनल में योरोप बनाम लैटिन अमेरिका का मुकाबला था और अर्जेंटीना को हराकर जर्मनी ने योरोप का दबदबा स्थापित किया था।

अब फीफा 2018 में फाइनल में कुछ करने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी। योरोप का वर्चस्व कायम हो चुका है। फीफा ट्रॉफी योरोप में ही रहेगी। अलबत्ता दिलचस्पी इस में ही होगी कि यह नए हाथों में जाएगी या आजमाए हुए हाथ फिर इसे उठाएंगे।

योरोप की हैट्रिक पहले ही लग चुकी थी और अब लगातार चौथी बार योरोप का ट्रॉफी पर कब्जा होगा। आखिरी बार गैर योरोपियन टीम के तौर पर ब्राज़ील ने 2002 में ट्रॉफी जीती थी और योरोप का दबदबा तोड़ने का अरमान पूरा करने के लिए उसके मुख़ालिफ़ों को 2022 तक इंतजार करना होगा।rbs

राज बहादुर सिंह उत्तर प्रदेश के जाने माने पत्रकार हैं. हिंदी-अंग्रेजी पर समान पकड़ रखते हैं. दैनिक जागरण समेत कई बड़े संस्थानों में वरिष्ठ पदों पर रहे हैं. सियासतफिल्म और खेल पर जबरदस्त पकड़ रखने वाले श्री सिंह फिलहाल पायनियर में वरिष्ठ पद पर कार्यरत हैं. उनका लिखा फेसबुक से साभार लेकर प्रकाशित किया गया है.