फर्जीवाड़ा : भूमिहीन को किसान बनाकर सम्मान निधि दिलाने वाले गैंग का पर्दाफाश

  • रोजा थाने में 11 सितंबर को किसान सम्मान निधि में धन की धोखाधड़ी व गबन का दर्ज हुआ था मामला
  • शुक्रवार को एसओजी और रोजा पुलिस ने दो जन सेवा केंद्र संचालक सहित पांच आरोपियों को किया गिरफ्तार

शाहजहांपुर। यूपी के शाहजहांपुर में सरकार की महत्वपूर्ण योजना किसान सम्मान निधि में फर्जीवाड़ा सामने आया है। पुलिस ने दो जनसेवा केंद्र संचालकों सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया है‍। आरोपी भूमिहीन किसानों को योजना का लाभ दिलाते थे।

शुक्रवार को डीएम इंद्र विक्रम सिंह ने किसान सम्मान निधि में फर्जीवाड़ा का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि सिंधौली थाना क्षेत्र के गांव शेखुपुर निवासी हरिशंकर, पैगापुर निवासी दिनेश, गढ़ियारंगीन के गांव सिमरा मजरा डभौरा के अनिल कुमा, मुड़िया खेड़ा आजमाबाद निवासी विपिन और सदर बाजार थाना क्षेत्र के मोहल्ला जलालनगर निवासी मोहित गांधी गिरोह बना कर भूमिहीन किसानों को किसान सम्मान निधि का लाभ दिलाने के नाम पर बैंक पासबुक और आधार नंबर की कापी ले लेते थे। उसके बाद यह फर्जी खतौनी नबर डालकर किसानों को लाभ दिलाते थे।

आरोपियों ने बताया कि वह किसानों किसान सम्मान निधि दिलाने के बदले में पहली किस्त दो हजार रुपए ले लेते थे। डीएम ने बताया कि आरोपियों में दो जन सुविधा केंद्र संचालक और तीन डाटा फीडिंग करने वाले प्राइवेट कर्मचारी शामिल हैं। उन्होंने बताया कि आरोपियों ने दो सौ अपात्रों को सम्मान निधि का लाभ दिलाया है। डीएम ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ गैंगेस्टर की कार्रवाई की जाएगी।

अवर अभियंता ने दर्ज कराया था मामला : 11 सितंवर को कार्यालय कृषि उप-निदेशक अवर अभियंता ओमवीर राठौर ने रौजा थाने में किसान सम्मान निधि योजना में धन की धोखाधड़ी व गबन कारने की अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। सरकारी योजना में फर्जीवाड़े को डीएम इंद्र विक्रम सिंह और एसपी एस आन्नद ने गम्भीरता से लेते हुए एसओजी के साथ पुलिस की एक टीम गठित कर घटना का शीघ्र खुलासा करने के निर्देश दिए।

शुक्रवार को रौजा पुलिस और एसओजी टीम को मुखबिर ने सूचना पर पांच लोगों को बरेली मोड़ से गिरफ्तार किया। पुलिस ने आरोपियों से पूछताछ की तो उन्होंने ने किसान सम्मान निधि में फर्जीवाड़े की बात कबूल की है। आरोपियों की निशानदेही पर तीन लैपटाप, चार मोबाइल, एक सीपीयू-टीएफटी, प्रिंटर और फिंगर प्रिंट डिवाइस आदि बरामद किया है।