देश के अन्य राज्यों तक पहुंचेगी किसानों की फसल, चलाई गई किसान ट्रेन

हाथरस में उत्तर मध्य रेलवे के इलाहाबाद मंडल द्वारा शहर के हाथरस किला स्टेशन से पहली किसान रेल को सोमवार देर रात रवाना की गई है। ये रेल जनपद के किसानों की आलू की बड़ी उपज को लेकर रवाना हुई है। कुल आठ फेरों के लिए संचालित की गई ट्रेन की रवानगी मंगलवार सुबह होनी थी, लेकिन तकनीकी कारणों से इसे सोमवार देर रात को ही रवाना कर दिया गया।
293 टन आलू ट्रेन में लादा गया

उत्तर मध्य रेलवे द्वारा किसानों को बड़ी राहत देते हुए किसान रेल का संचालन किया गया है। हाथरस किला रेलवे स्टेशन से सोमवार की देर रात किसान रेल को गोवाहाटी के लिए रवाना किया गया। इस ट्रेन में जनपद के लगभग 12 किसानों का 293 टन आलू लादा गया है। आलू की 57 सौ बोरी ट्रेन की बोगी में लादी गई हैं। किसानों के लिए संचालित की गई ये ट्रेन सोमवार दोपहर को किला स्टेशन पर पहुंच गई थी।
एक दिन पहले रवाना हुई ट्रेन

दो कोच में आलू का लादान किया गया। देर शाम लदान पूरा होने के चलते इस ट्रेन को हाथरस किला स्टेशन पर खड़ा किया जाना मुश्किल हो रहा था। इसके चलते इसे मंगलवार की जगह सोमवार देर रात ही हाथरस जंक्शन के लिए रवाना किया गया। मंगलवार को इस ट्रेन को गोवाहाटी के लिए जंक्शन स्टेशन से रवाना किया जाएगा।
किसानों से लिया गया आधा किराया

मौके पर मौजूद रेल अधिकारियों ने बताया कि इस माल के परिवहन के लिए किसानों को 50 फीसद की छूट दी गई है। किसानों से कुल 6 लाख 55 हजार 150 रुपए लिए गए हैं। उन्हें कुल 6 लाख 30 हजार रुपए की छूट दी गई है। हाथरस किला स्टेशन से ट्रेन को रवाना किए जाने में वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक प्रयागराज विपिन सिंह द्वारा किए गए प्रयासों को अहम माना जा रहा है।