विधानभवन सुरक्षा मामला : Praharlive के खुलासे के बाद जागी सरकार  

रिपोर्ट
फर्जी राज्य‍मंत्री अम्मार अहमद

मनोज श्रीवास्‍तव

: फर्जी निदेशक के खिलाफ दर्ज कराया गया एफआईआर : लखनऊ : फर्जी तरीके से विधानसभा सचिवालय का पास बनवाने के मामले का ‘प्रहारलाइव’ के खुलासे बाद सरकार की नींद खुल गई है। प्रहारलाइव ने खुलासा किया था कि कुंवर अम्‍मार अहमद नामक युवक ने फर्जी तरीके से राज्‍यमंत्री का पास बनवा लिया है। इसके बाद सहारनपुर के भाजपा जिलाध्‍यक्ष की तहरीर पर अम्‍मार के खिलाफ चार सौ बीसी समेत कई धाराओं में मामला दर्ज कराया गया है।

प्रदेश महामंत्री, एमएलसी तथा सहकारिता चुनाव के प्रभारी विद्यासागर सोनकर के संज्ञान में जब यह जानकारी आई कि अम्‍मार नामक युवक को सहकारी विभाग का निदेशक बना दिया गया है तो उन्‍होंने अपने स्‍तर से पूरे मामले की जांच कराई। जांच में यह बात सामने आई कि अम्‍मार ने फर्जी तरीके से निदेशक का पास प्राप्‍त किया है। इतना ही नहीं उसका सहारनपुर में भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा स्‍वागत भी किया गया।

एमएलसी
प्रदेश महामंत्री विद्यासागर सोनकर

जब इस पूरे मामले का खुलासा करते हुए Praharlive ने विधानभवन तथा सचिवालय की सुरक्षा को खतरे में बताया तब जाकर सचिवालय प्रशासन नींद से जागा। जांच के बाद पास को फर्जी बताते हुए आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया। अम्‍मार अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर है। सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा ने बताया कि हमने बुधवार को ही एसएसपी सहारनपुर को इस संदर्भ से अवगत करा दिया था।

उन्‍होंने कहा कि हैरत तो यह है कि इसके बाद भी वह स्‍वागत करा रहा है और पुलिस की पकड़ से बाहर है। गौरतलब कि पहले भी फर्जी पास पाए जाने की घटनाएं हो चुकी हैं, लेकिन विधानसभा सचिवालय प्रशासन ने इसे कभी गंभीरता से नहीं लिया, जिसके चलते ऐसा करने वालों का मनोबल बढ़ा हुआ है। साथ ही विधानभवन तथा सचिवालय की सुरक्षा को लगातार खतरा बना हुआ है।

स्‍वागत कराता फर्जी निदेशक   

manoj

वरिष्‍ठ पत्रकार मनोज श्रीवास्‍तव की रिपोर्ट.