चेयरमैन की पहल : जल्‍द दूर हो जायेगी नगरवासियों के पेयजल की समस्‍या

: 31 करोड़ की लागत से नगर में बन रहे 8 ओवरहेड टैंक : पाइपलाइन का विस्‍तार भी किया जायेगा : पांच दशक तक नगर को मिलेगा इसका लाभ : चंदौली। पंडित दीनदयाल उपाध्‍याय नगर में लंबे समय से चली आ रही रही शुद्ध पेयजल उपलब्‍धता की समस्‍या का समाधान जल्‍द ही होने जा रहा है। नगर पालिका बनने के बाद से ही किसी भी चेयरमैन ने नगर की इस समस्‍या की तरफ ध्‍यान नहीं दिया था। वर्तमान चेयरमैन संतोष खरवार की पहल पर अब नगरवासियों को शुद्ध पेयजल उपलब्‍ध होने का रास्‍ता साफ हो गया है। उनकी सबसे बड़ी समस्‍या का समाधान आने वाले कुछ दिनों में हो जायेगा।

नगर पालिका प्रशासन नगर क्षेत्र में पानी की समस्या को दूर करने के लिए अमृत योजना के तहत आठ ओवरहेड टैंक का निर्माण करा रहा है। इस योजना को मूर्त रूप देने में 31 करोड़ रुपये का खर्च आयेगा। योजना के तहत ओवर हेड टैंक के निर्माण के साथ नए ट्यूबवेल लगाने, पुराने ट्यूबवेल को रीबोर कराने तथा पंप हाउस बनाये जाने का कार्य किया जा रहा है। इस परियोजना के पूर्ण हो जाने पर प्रत्‍येक घर में नल के जरिये पानी पहुंचाया जा सकेगा।

सभी घर तक पानी पहुंचाने के लिये 136 किमी लंबी पाइप लाइन भी बिछायी जा रही है। दो चरणों में चलने वाले निमार्ण कार्य को जुलाई 2021 तक पूरा कर लिया जाएगा। इसके पूरा होते ही नगर को शुद्ध पेयजल की समस्‍या से निजात मिल जायेगा। अनुमान है कि योजना के तहत कार्य के पूरा हो जाने के बाद अगले पांच दशक तक आबादी बढ़ने के बावजूद नगर में पीने के पानी की समस्या का समाधान हो जाएगा। भविष्‍य की परेशानियों को ध्‍यान में रखकर इस योजना को मूर्त रूप दिया गया है।

दो चरण में पूरा होगा निर्माण कार्य

नगर पालिका परिषद क्षेत्र में कुल 25 वार्ड हैं, जिनमें 16 हजार से अधिक मकान स्थित है। आबादी लाख से अधिक है। नगरवासियों को बेहतर जलापूर्ति के लिए नगर पालिका प्रशासन की ओर से अमृत (अटल मिशन फॉर रेजुवेनशन एंड अर्बन ट्रांसफॉर्मेशन) योजना के तहत नगर के विभिन्न वार्डो में कुल आठ ओवर हेड टैंक का निर्माण कराया जा रहा है। कार्यदायी संस्था जलनिगम की ओर से दो चरणों में काम कराया जा रहा है। प्रथम चरण में चार ओवर हेड टैंक के निर्माण के साथ लगभग 62 किलोमीटर पाइप लाइन का विस्तार किया जा रहा है। इसमें 06 ट्यूबवेल, 06 पंप हाउस का निर्माण भी कराया जा रहा है। इस योजना को पूरा करने में लगभग 15 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

दूसरे चरण में भी चार ओवरहेड टैंक का निर्माण कराया जायेगा। साथ ही 74 किलोमीटर लंबी पाइप लाइन का विस्तार नगर क्षेत्र  में किया जायेगा।  चार नये ट्यबवेल,  छह ट्यूबवेल का रीबोर कराये जाने के साथ ही चार नये पंप हाऊस बनाये जाएंगे। इस परियोजना के पूरा करने के लिये पालिका प्रशासन को लगभग 31 करोड़ रुपये खर्च करने होंगे। दोनों चरण का कार्य इस साल जुलाई माह तक पूर्ण करने का लक्ष्‍य रखा गया है। चेयरमैन इन परियोजनाओं का निर्माण अपनी देखरेख में करा रहे हैं।

इन वार्डों में बन रहे हैं ओवर हेड टैंक

नगर के अलग-अलग वार्डो में ओवरहेड टैंक निर्माण कार्य चल रहा है। प्रथम चरण में मवई, हनुमानपुर, चंदासी ओवरहेड टैंक निर्माण कार्य पूरा हो चुका है। इनको ट्यूबवेल से जोड़कर जल्‍द से जल्‍द आपूर्ति किये जाने की तैयारी है। अलीनगर में ओवरहेड का टैंक का कार्य चल रहा है। दूसरे चरण में बनने वाले परशुरामपुर, सुभाष पार्क, नगर पालिका कार्यालय परिसर में ओवरहेड टैंक का कार्य अपने अंतिम चरण में है। न्यू महाल में ओवरहेड टैंक बनकर तैयार हो गया है। जल्‍द ही इससे आपूर्ति शुरू होगी।

संतोष खरवार, चेयरमैन

नगरवासियों में बेहतर पेयजल आपूर्ति के लिए ओवरहेड टैंक के निर्माण के साथ ट्यूबवेल व पंप हाऊस अमृत योजना से बनवाये जा रहे हैं। सभी कार्य पूरा होने जाने पर नगर से 50 वर्षों तक के लिए पेयजल की समस्या दूर हो जाएगी। – संतोष खरवार, चेयरमैन, पीडीडीयू नगर