बाबा कीनाराम का जन्‍मोत्‍सव शुरू, भजन-कीर्तन से बंधा समां

राजीव गुप्‍ता

चन्दौली। जनपद के चहनियां विकासखंड अंतर्गत रामगढ़ स्थित मठ में अधोराचार्य बाबा कीनाराम का 419 वां जन्मोत्सव – महोत्सव  शनिवार की सुबह से ही घंटा-घड़ियाल व बाबा के जयकारे के साथ शुरू हो गया। जन्मोत्सव कार्यक्रम तीन दिनों तक चलेगा। इस दौरान सर्वप्रथम बाबा कीनाराम द्वारा स्थापित किनेश्वर महादेव का कांवरियों द्वारा जलाभिषेक किया गया। ततपश्चात सैंकड़ों महिलाओ द्वारा बाबा के जन्म की सोहर गीत ढोलक-तबले के साथ गाये गये।

गीत के पश्चात आयोजक अजित सिंह, धनंजय सिंह, प्रभुनारायण सिंह आदि द्वारा हवन के पश्चात बाबा कीनाराम  बाबा की गद्दी, विश्रामालय आदि जगहों पर प्रातःकाल सूर्योदय के पूर्व महाआरती की गई। प्रातः 9 से रामायण का पाठ मंगला पाठक, मुन्ना पांडेय,  हरिशंकर तिवारी, मंगल विशवकर्मा व अश्विनी पांडेय के साथ शुरू हुआ। कीनाराम बाबा के जन्मोत्सव के प्रथम दिन प्रातःकाल से  दर्शनार्थियों का जनसैलाब बाबा के दर्शन को उमड़ पड़ा।

मठ के अंदर व बाहर मेले जैसा दृश्य है। बाबा कीनाराम इंटर कालेज के ग्रांउड पर व बाहर पूरे एक किलोमीटर के रेंज में चरखी, झूला, खिलौने, मिष्ठान, चाट, पकौड़े, गुड़हिया जलेबी, महिलाओं के श्रृंगार, गुब्बारे आदि की सैंकड़ों दुकानें लगी हैं। पुरुष, महिलायें व बच्चे मेले का लुफ्त उठा रहे हैं। मेले में सुरक्षा की दृष्टि से भारी मात्रा में फोर्स तैनात है। क्षेत्राधिकारी त्रिपुरारी पांडेय व बलुआ थानाध्यक्ष धीरेन्द्र कुमार सिंह मेले में सुरक्षा की दृष्टि से चक्रमण करते रहे। पूरा परिक्षेत्र बाबा कीनाराम के उद्द्घोष से गूंजायमान रहा।

सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन : रामगढ़ स्थित बाबा कीनाराम महोसत्व में 12 बजे से  कलाकारों ने मंच से समा बांध दिया। कलाकार प्रणव पीरा द्वारा गीत “बम बम बोल रहा है काशी” के गीत पर झूम उठे श्रोतागण। धरतीपुत्र मुलायम सिंह यादव महाविद्यालय के छात्राओं द्वारा “बोल बोल ये सुनरवा बाबा कीनाराम की जय” पर डांस गीत प्रस्तुत किया गया।  इसके अलावा मंगला पाठक द्वारा भजन, मुन्ना पांडेय, मकर ध्वज, हरिश्चन्द्र, मेहना तेलगी, दीपक सरकार, मंगल विश्‍वकर्मा, बिक्रमा सिंह, कौशल उपाध्याय, भइया लाल पाठक, दिलकश भारती आदि कलाकारों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत हुआ।

श्रोतागणों ने भी इस आयोजन का भरपूर आनन्द उठाया। एक तरफ सांस्कृतिक कार्यक्रम का दौर चल रहा था दूसरी तरफ लंगर के आयोजन में हजारों श्रद्धालुओं ने बाबा कीनाराम का प्रसाद ग्रहण किया। यह आयोजन तीन दिनों तक चलेगा।