कुंवारों ने थामी भाजपा की कमान, संघ ने बढ़ाया दबाव

मनोज श्रीवास्तव

: संगठन का नकेल कसने के लिए संघ ने अपने हाथ में ली कमान : लखनऊ। लोकसभा 2019 का चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही भारतीय जनता पार्टी ने अपने शादी-शुदा सभी क्षेत्रीय संगठन मंत्रियों को हटा दिया है। छह क्षेत्रों में बंटे प्रदेश में राजधानी में एक वर्ष पूर्व तैनात किए गए संगठन मंत्री ब्रज बहादुर को हटा कर युवा मोर्चे के प्रभारी का काम देख रहे प्रदुम्न को जिम्मेदारी सौंपी है। नया संगठन मंत्री तैनात किया गया है। जबकि दो कुंवारे संगठन मंत्रियों को अतिरिक्त जिम्मेदारी दी गयी है।

फिलहाल अभी भी पश्चिमी उत्तर प्रदेश का क्षेत्र में अभी भी कोई संगठन मंत्री तैनात नहीं हो पाया है। सबका साथ सबका विकास का नारा देकर सरकार में आयी भारतीय जनता पार्टी की सरकार और यूपी के संगठन में पार्टी इस नारे को अमली जामा नहीं पहना पायी है।

कानपुर क्षेत्र से ओम प्रकाश, अवध क्षेत्र से ब्रज बहादुर और गोरखपुर क्षेत्र से शिवकुमार पाठक को मुक्त किया गया है। संगठनमंत्रियों के कार्यक्षेत्र में फेर-बदल को लेकर कई दिनों से सुगबुगाहट थी। ब्रज (आगरा) क्ष्रेत्र के संगठनमंत्री भवानी सिंह को कानपुर क्षेत्र भी सौंप दिया गया। जबकि काशी (वाराणसी) क्षेत्र के संगठनमंत्री पंडित रत्नाकर को गोरखपुर क्षेत्र का अतिरिक्त जिम्मेदारी दी दी गयी है।

रात में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय की ओर से पार्टी ने चिठ्ठी जारी करते हुए यह जानकारी दी। जिसमें यह भी बताया गया है कि हटाये गए शादी-शुदा संगठन मंत्रियों को भी जल्द ही कोई नई जिम्मेदारी दी जाएगी। लेकिन इस बात को लेकर संशय है कि जितना रुतबा क्षेत्रीय संगठन मंत्री के रूप में इन लोगों ने भोगा है, वह नई रचना में बरकरार रह पाएगा क्या? आने वाला सप्ताह यूपी भाजपा के लिए संगठन को कसने का सप्ताह होगा।

युवा मोर्चा, किसान मोर्चा, महिला मोर्चा और पिछड़ा मोर्चा के गठन करने का दबाव है। पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ लक्ष्मीकांत बाजपेयी के कार्यकाल गठित टीमों की डमी इकाइयां पिछले 4 वर्ष से चल रही हैं। जानकारों के अनुसार विपक्ष में रह कर भाजपा सांगठनिक इकाइयां जितना मजबूती से काम कर रही थी, सरकार बनने के बाद वह लुंज-पुंज चल रही है।अब कुंवारे संगठनमंत्रियों की पहली चुनौती 2019 लोकसभा चुनाव के पहले संगठन को पूर्ण रूप से गठित कराना होगा।लगातार पार्टी को 24 घंटे समय देने वाला कार्यकर्ता चाहिए इस लिए वैवाहिक पूर्णकालिकों को हटा कर कुंवारों को लाया जा रहा है।manoj

वरिष्‍ठ पत्रकार मनोज श्रीवास्‍तव की रिपोर्ट.