पहले की सरकार में माफिया को थी लूट की खुली छूट : प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कुशीनगर में आयोजित जनसभा में जहां उत्तर प्रदेश की योगी सरकार की मुक्तकंठ से सराहना की तो वहीं किसी का नाम लिए बिना समाजवादी पार्टी और उसके शासनकाल की बखिया उधेड़कर रख दी। उन्होंने बीते साढ़े चार साल में उत्तर प्रदेश में कानून के राज को सर्वोच्च प्राथमिकता दिए जाने का उल्लेख करते हुए कहा कि 2017 के पूर्व की सरकार में माफिया को लूट की खुली छूट थी। पर, अब योगी जी के नेतृत्व में ऐसी सरकार है जिससे माफिया माफी मांगता फिर रहा है। इसका दर्द उनको से संरक्षण देने वालों को हो रहा है।

भगवान गौतम बुद्ध की महापरिनिर्वाण स्थली कुशीनगर के बरवा फॉर्म में बुधवार को राजकीय मेडिकल कॉलेज के शिलान्यास, 12 अन्य विकास परियोजनाओं के शिलान्यास व लोकार्पण के अवसर पर आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने शुरुआत में ही ठेठ भोजपुरी बोली से सबक दिल जीत लिया। इसके बाद जब वह बिंदुवार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रशंसा करते हुए पूर्व की सरकार पर हमला बोलते रहे तो उपस्थित जनसमूह तालियों व नारों से उनका साथ देता रहा। कानून व्यवस्था के मुद्दे पर योगी सरकार की सराहना करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि यह सरकार भू माफिया के मंसूबों को ध्वस्त कर रही है जो पहले गरीबों वंचितों शोषित और पिछड़ों की जमीन पर कब्जा करते थे। उन्होंने कहा कि जब कानून का राज होता है, अपराधियों में डर होता है तो विकास का लाभ भी सभी लोगों तक तेजी से पहुंचता है। इसे योगी जी की पूरी टीम जमीन पर उतारकर दिखा रही है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि इसके पहले जो सरकार थी उसे जनता के दुख दर्द से कोई सरोकार नहीं था। वह नहीं चाहती थी कि केंद्र सरकार की योजनाओं का लाभ गरीबों तक पहुंचे। हर प्रोजेक्ट में यूपी में देर होती थी। उन्होंने कहा कि डॉ राम मनोहर लोहिया कहा करते थे कि कर्म को करुणा से जोड़ो लेकिन पहले की सरकार ने कर्म को घोटालों और अपराधों से जोड़ दिया। इससे उसकी पहचान समाजवादी की नहीं परिवारवादी की बन गई। ये लोग परिवार के हित मे समाज का हित, यूपी का ही करना भूल गए।

दोगुनी ताकत से हालात सुधार रही डबल इंजन की सरकार : पीएम
प्रधानमंत्री ने कहा कि सबसे बड़ी आबादी का राज्य उत्तर प्रदेश एक समय तक चुनौती मान लिया गया था लेकिन आज वह हर बड़े मिशन में अग्रणी है। प्रदेश में आज जो सरकार है वह जनता का दर्द और उसकी परेशानी को समझती है। इमानदारी से केंद्र की योजनाओं का लाभ गरीबों तक पहुंचाया जा रहा है। डबल इंजन की सरकार डबल ताकत से स्थितियां सुधार रही है।

अभाव से निकाल आकांक्षाओं की तरफ ले जाएंगे इस क्षेत्र को
पीएम मोदी ने कहा कि कुशीनगर में इंटरनेशनल एयरपोर्ट के उद्घाटन राजकीय मेडिकल कॉलेज के शिलान्यास व अन्य विकास परियोजनाओं से गांव से लेकर शहर तक इस पूरे क्षेत्र की तस्वीर बदल जाएगी। क्षेत्र को हम अभाव से निकाल आकांक्षाओं की तरफ ले जाएंगे। जब समाज के हर वर्ग को मूल सुविधाओं से जोड़ने का संकल्पबद्ध अभियान होता है तो उन्हें पूरा करने का हौसला और जज्बा भी बढ़ता है। जब हर गरीब के पास घर, शौचालय, शुद्ध पेयजल, रसोई गैस, बिजली की सुविधा होती है तो उसका आत्मविश्वास कई गुना बढ़ जाता है। सरकार इसी दिशा में कार्य कर रही है।

180.66 करोड़ रुपये की 12 अन्य विकास परियोजनाओं की भी प्रधानमंत्री ने दी सौगात

मातृभाषा में पढ़ने वाला गरीब का बेटा भी बनेगा डॉक्टर
कुशीनगर में राजकीय मेडिकल कॉलेज के शिलान्यास से आने वाले समय मे इलाज की बेहतरीन सुविधा कुशीनगर के साथ ही बिहार के लोगों तक पहुंचने को लेकर पीएम मोदी ने प्रसन्नता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि मेडिकल कॉलेज बनने से यहां का युवा भी डॉक्टर बनने का सपना पूरा कर पाएगा। प्रधानमंत्री ने बताया कि आजादी के 75 सालों बाद राष्ट्रीय शिक्षा नीति में यह निर्णय लिया गया है कि अब मातृभाषा में पढ़ने वाला, गरीब का बेटा भी डॉक्टर या इंजीनियर बन सकेगा। भाषा से विकास यात्रा में अब कोई बाधा नहीं पैदा होने पाएगी। वर्तमान सरकार ने कई बाधाओं को दूर करके जानलेवा इंसेफलाइटिस से होने वाली मौत से हजारों मासूमों को बचाया है। उन्होंने आज लोकार्पण व शिलान्यास की परियोजनाओं से इस क्षेत्र को सड़क परिवहन, बाढ़ बचाव व शिक्षा के क्षेत्र में मिलने वाले फायदे का भी जिक्र किया।

25 वर्ष की बुनियाद रखकर यूपी को आगे ले जाना है :पीएम
प्रधानमंत्री ने कहा कि आने वाला समय आकांक्षाओं की पूर्ति का समय है हमें 25 वर्ष की बुनियाद रख कर उत्तर प्रदेश को आगे ले जाना है कुशीनगर पूर्वांचल और समूचे उत्तर प्रदेश के आशीर्वाद से यह पक्का संभव होने वाला है।

स्वच्छ भारत मिशन से लेकर कोरोना प्रबंधन तक शानदार काम

प्रधानमंत्री ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन से लेकर कोरोना प्रबंधन तक उत्तर प्रदेश के शानदार योगदान का अनुभव पूरे देश ने किया है। प्रतिदिन औसतन सर्वाधिक कोविड टीकाकरण में भी उत्तर प्रदेश अग्रणी है। टीबी के विरुद्ध लड़ाई हो या फिर कुपोषण के खिलाफ अभियान, उत्तर प्रदेश की भूमिका अहम है। कर्मयोगियों की सरकार का लाभ माताओं और बहनों को हुआ है। आवास योजना में बने मकान व स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय की गरिमा की रक्षा के लिए हैं। उज्ज्वला योजना से उन्हें धुएं से मुक्ति मिली है। अब हर घर नल से शुद्ध जल की व्यवस्था से उन्हें पानी के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। बताया कि दो साल में 27 लाख परिवारों को शुद्ध पेयजल का कनेक्शन दिया गया है। केंद्र की एक और योजना समाज में समृद्धि लाने जा रही है। यह योजना है पीएम स्वामित्व योजना। इसमें घरौनी यानी घरों के मालिकाना दस्तावेज देने का काम शुरू किया गया है। ड्रोन से नपाई की जा रही है। अब अवैध कब्जे का डर नहीं रहेगा। बैंकों से कर्ज मिलने भी आसानी होगी। इससे गांव के युवा को अपना रोजगार करने में भी बड़ी मदद मिलेगी।

योगी राज में माफी मांगते फिर रहे माफिया : पीएम मोदी

यूपी में पग-पग पर तीर्थ, कण-कण में ऊर्जा
पीएम मोदी ने कहा कि यूपी के बारे में एक खूबी की चर्चा होती है कि यहां से सबसे ज्यादा प्रधानमंत्री हुए। पर प्रदेश की पहचान को इसी दायरे में ही नहीं देखा जा सकता। इस भूमि पर भगवान राम और भगवान कृष्ण ने अवतार लिया। जैन धर्म के 24 में 18 तीर्थंकर इसी प्रदेश में अवतरित हुए। यह तुलसी संत कबीर संत रविदास की भूमि है। वेदों पुराणों के अवतरण की धरती नैमिषारण्य, भगवान श्रीराम की जन्मभूमि अयोध्या, देवाधिदेव महादेव की धरा काशी, गुरु गोरक्षनाथ की तपोभूमि गोरखपुर, महर्षि भृगु की स्थली बलिया, पावन चित्रकूट, भगवान बुद्ध की उपदेश स्थली सारनाथ, महापरिनिर्वाण स्थली कुशीनगर आदि के धार्मिक और आध्यात्मिक महत्व का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि यूपी में पगपग पर तीर्थ हैं तो कण-कण में उर्जा है। उन्होंने कहा कि श्रावस्ती जैन तीर्थंकर संभावनाथ, अयोध्या ऋषभदेव, काशी पार्श्वनाथ व सुपार्श्वनाथ की धरा है। इसी तरह उत्तर प्रदेश में सिख गुरु परंपरा भी समृद्ध है। आगरा व पीलीभीत के गुरुद्वारों में गुरु नानक देव वह गुरु तेग बहादुर की महिमा का बखान है।

और जब पीएम ने “”जहां सुमति तहां संपत्ति….” कहकर दी नसीहत
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूपी के लोगों के सामर्थ्य प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि जब मैं उत्तर प्रदेश के लोगों के बड़े सामर्थ की प्रशंसा करता हूं तो कुछ लोगों को परेशानी होती है। उनके लिए यही कहा जा सकता है, “जहां सुमति तहां संपत्ति नाना, जहां कुमत वहां बिपति निधाना।”

गरीबों की सेवा के संकल्प से बढ़ रहे आगे
प्रधानमंत्री ने कहा कि हम गरीबों की सेवा का संकल्प लेकर आगे बढ़ रहे हैं। कोरोनाकाल मे उत्तर प्रदेश के 15 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन का लाभ मिलना भी इसी संकल्प का हिस्सा है। सबसे तीव्र टीकाकरण का अभियान भी जारी है जल्द ही हम 100 करोड़ पार की स्थिति में होंगे। उत्तर प्रदेश में भी 12 करोड से अधिक लोगों को कोरोनारोधी का लगाया जा चुका है। प्रधानमंत्री ने कहा कि डबल इंजन की सरकार किसानों से उनकी उपज की रिकॉर्ड खरीद कर रही है। खरीद के 80,000 करोड रुपए किसानों के खाते में यूपी में भेजे गए हैं। हजारों करोड़ों रुपए की पीएम किसान सम्मान निधि से छोटे किसानों को ताकत दी जा रही है।

योगी सरकार ने किया गन्ना किसानों को रिकॉर्ड भुगतान
प्रधानमंत्री ने गन्ना किसानों के हित में योगी सरकार द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा कि गन्ना किसानों के लिए उत्तर प्रदेश में सर्वाधिक मूल्य वृद्धि की गई। यही नहीं योगी सरकार ने रिकॉर्ड गन्ना मूल्य का भुगतान किया है। उन्होंने कहा कि पहले की सरकार ने 5 साल में जहां एक लाख करोड़ रुपए का भी भुगतान नहीं किया था वही इस सरकार ने 5 साल पूरे भी नहीं हुए और डेढ़ लाख करोड़ रुपए किसानों को गन्ना मूल्य का भुगतान किया है। प्रधानमंत्री ने बताया कि एथेनाल नीति से भी उत्तर प्रदेश के किसानों को खूब लाभ होने वाला है। एथेनाल से बनने वाला बायोफ्यूल कच्चे तेल का विकल्प बन रहा है बायोफ्यूल के लिए जो फैक्ट्रियां लगेंगी उससे गन्ना किसानों को भी फायदा मिलेगा।

एक बार फिर लोकल के लिए वोकल का आग्रह दिया पीएम ने
कुशीनगर की जनसभा में प्रधानमंत्री ने लोगों से एक बार फिर लोकल के लिए वोकल होने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि दिवाली का पर्व नजदीक है आप सभी अधिक से अधिक लोकल उत्पाद खरीदें। इससे उत्पाद बनाने वाले स्थानीय लोगों में एक नई ऊर्जा प्रकट होगी उनके पर्व में भी रंग व प्रकाश भर जाएगा।

भोजपुरी में बोले पीएम, “रउवां सब बहुत दिन से अगोरत रहलीं”
विकास परियोजनाओं की सौगात देने के लिए आयोजित जनसभा में प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन की शुरुआत ठेठ भोजपुरी बोली में की। जैसे ही उन्होंने यह कहा, रउवां सभन के परणाम कर रहल बानी।” जनसभा में शामिल लोग उत्साहित हो गए। पीएम ने कहा, ” आज हम इहां एयरपोर्ट के उद्घाटन और मेडिकल कॉलेज के शिलान्यास कईलीं हं जउनो खातिर रउवां सब बहुत दिन से अगोरत रहलीं। अब इहां से जहाज उड़ी और गंभीर बीमारी के इलाज होई। बहुत बड़ा सपना भी पूरा हो गइल।” पीएम ने लोगों को वाल्मीकि जयंती, आगामी दिवाली व छठ पूजा की बधाई दी। कहा कि महर्षि वाल्मीकि ने रामायण में सामूहिक प्रयास से बड़े लक्ष्य की प्राप्ति का बोध कराया है। कुशीनगर इसी पवित्र दर्शन का समृद्ध क्षेत्र है। उन्होंने कहा कि एयरपोर्ट के लोकार्पण व मेडिकल कॉलेज समेत अन्य विकास परियोजनाओं के शिलान्यास-लोकार्पण से विकास, रोजगार और स्वास्थ्य के क्षेत्र में समृद्धि आएगी।

पहिए होते तो बीआरडी को भी कहीं और ले गई होती पूर्व की सरकारें : सीएम योगी
समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में कुशीनगर के दशकों पुराने सपनों को एक नई उड़ान मिली है। आज से शुरू अंतरराष्ट्रीय उड़ान सेवा क्षेत्र के विकास में भी नई भूमिका का निर्वहन करेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोई सोच भी नहीं सकता था कि कुशीनगर में भी मेडिकल कॉलेज बनेगा। 2014 तक जब सोचते थे तब कुशीनगर की बात तो दूर अन्य महत्वपूर्ण स्थानों पर भी स्वास्थ्य सेवा जर्जर थी। बड़ी संख्या में बच्चे, महिलाएं, बुजुर्ग असमय काल के गाल में समा जाते थे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना से क्रांतिकारी बदलाव आया है। प्रधानमंत्री जी की अनुकंपा से उत्तर प्रदेश 30 मेडिकल कॉलेजों का कार्य प्रारंभ कर रहा है उन्होंने कहा कि कुशीनगर का मेडिकल कॉलेज बहुत महत्वपूर्ण है। कुशीनगर के लोगों ने बड़ी संख्या में इंसेफलाइटिस से मासूमों को मरते देखा है। यह इंसेफलाइटिस से सबसे प्रभावित इलाकों में रहा। इस क्षेत्र में चिकित्सा का एकमात्र दारोमदार जर्जर बीआरडी मेडिकल कॉलेज गोरखपुर पर था। उन्होंने पूर्व की सरकारों पर तंज कसते हुए कहा कि बीआरडी मेडिकल कॉलेज में अगर पहिए लगे होते तो उसे भी पूर्व की सरकारें कहीं और लेती गई होतीं।

प्रदेश में खड़ी हो रही मेडिकल कॉलेजों की लंबी श्रृंखला
सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश में मेडिकल कॉलेजों की लंबी श्रृंखला खड़ी हो रही है। बस्ती में मेडिकल कॉलेज 2 वर्ष से संचालित है। देवरिया और सिद्धार्थनगर में भी मेडिकल कॉलेज बनकर तैयार है। 25 अक्टूबर को प्रधानमंत्री के हाथों इसका लोकार्पण होगा। गोंडा, बहराइच, गाजीपुर, जौनपुर, चंदौली में भी मेडिकल कॉलेज की सुविधा हो रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कुशीनगर में इंसेफेलाइटिस से सर्वाधिक पीड़ित होते थे प्रधानमंत्री द्वारा शुरू स्वच्छ भारत मिशन के तहत प्रदेश 2.61 करोड़ तथा कुशीनगर में 3.41 लाख व्यक्तिगत शौचालय बनाए गए हैं। यहां की 63 ग्राम पंचायतो को पाइप पेयजल योजना से आच्छादित किया जा रहा है।

हर मुसहर परिवार को आवास
सीएम योगी ने कहा कि कुशीनगर के मुसहरों के पास 2014 तक आवास नहीं थे। आज हर परिवार के पास एक एक आवास है। उन्हें राशन कार्ड और आयुष्मान स्वास्थ्य योजना से भी आच्छादित किया गया। उन्हें सभी योजनाओं का लाभ मिल रहा है। उन्होंने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार के प्रयासों से यहां मातृ व शिशु मृत्यु दर को 2014 की तुलना में काफी नियंत्रित किया गया है। मेडिकल कॉलेज से अब इस दिशा में और बेहतर कार्य होगा।

परिवारवाद बन गया था समाजवाद

समारोह में स्वागत संबोधन कुशीनगर के सांसद विजय कुमार दूबे ने किया। इस अवसर पर राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, यूपी सरकार के कृषि एवं कृषि शिक्षा-अनुसंधान मंत्री सूर्यप्रताप शाही, श्रम एवं सेवायोजन मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य, नागरिक विमानन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी, पयर्टन एवं संस्कृति मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ नीलकंठ तिवारी, बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, देवरिया के सांसद डॉ रमापति राम त्रिपाठी, कुशीनगर के विधायक रजनीकांत मणि व अन्य कई जनप्रतिनिधि भी उपस्थित रहे।

500 बेड का अस्पताल भी होगा कुशीनगर के मेडिकल कॉलेज में
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुशीनगर में 281.45 करोड़ रुपये की लागत से जिस राजकीय मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास किया, उसमें 500 बेड का सभी सुविधाओं से युक्त अस्पताल भी होगा। सीएम योगी ने 2022-23 के सत्र से यहां एमबीबीएस की 100 सीटों पर प्रवेश सुनिश्चित करने का लक्ष्य तय किया है। इस मेडिकल कॉलेज में 460 की क्षमता का छात्रावास भी बनेगा। मेडिकल कॉलेज का निर्माण पूर्ण होते ही जनपद, आसपास और बिहार के सीमावर्ती इलाकों में रहने वाले करीब 40 लाख लोगों को बेहतरीन चिकित्सा सुविधा उपलब्ध होगी। क्षेत्र के लोगों को अत्याधुनिक इलाज के लिए बड़े शहरों की भागदौड़ नहीं करनी पड़ेगी।

180.66 करोड़ रुपये की 12 परियोजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण भी किया पीएम ने
पीएम मोदी ने जनसभा स्थल से 180.66 करोड़ रुपये की 12 विकास परियोजनाओं का भी शिलान्यास व लोकार्पण होगा। इन परियोजनाओं में गंडक नदी पर बाढ़ सुरक्षा के 8 प्रोजेक्ट, स्वदेश दर्शन स्कीम में बौद्ध सर्किट योजनांतर्गत पर्यटन विकास, राजकीय महाविद्यालय सुकरौली का निर्माण, नवीन संकेत मूक बधिर राजकीय बालिका आवसीय विद्यालय का निर्माण, कसया-रामकोला व रामपुर खुर्द, कोटवा, घुघली मार्ग का चौड़ीकरण तथा सुदृढ़ीकरण का कार्य शामिल है।