वैक्सीनेशन को लेकर खुली महाराष्ट्र की पोल, महाराष्ट्र सरकार ने ट्वीट किया डिलीट

ट्रिपल टी रणनीति के चलते उत्‍तर प्रदेश कोरोना संक्रमण को मात देने में खरी उतरी है। सीमित संसाधनों में कोरोना की पहली लहर का डट कर मुकाबला करने वाले यूपी ने न सिर्फ दूसरी लहर पर तेजी से काबू पाया बल्कि चिकित्‍सीय संसाधनों में भी तेजी से विस्‍तार किया। प्रदेशवासियों को संक्रमण की चपेट से बचाने के लिए प्रदेश सरकार तेजी से टीकाकरण पर जोर दे रही है। टीकाकरण अभियान के तहत यूपी सर्वाधिक आबादी के बावजूद अब तक देश के दूसरे प्रदेशों के मुकाबले सर्वाधिक टीकाकरण कर मिसाल कायम की है।

24 करोड़ की आबादी वाले यूपी में अब तक 12 करोड़ 78 लाख से अधिक टीकाकरण किया जा चुका है जिसमें 09 करोड़ 69 लाख से अधिक को पहली और 03 करोड़ 08 लाख से अधिक को दूसरी डोज दी जा चुकी है। आबादी के लिहाज से दूश के दूसरे प्रदेशों से कहीं बड़े यूपी ने कम समय में अधिक से अधिक टीकाकरण किया है। शहरी इलाकों के साथ ही प्रदेश में एक सुनियोजित नीति के तहत ग्रामीण इलाकों में टीकाकरण की प्रक्रिया को तेजी से गति दी है।

अधिक आबादी के बावजूद टीकाकरण में यूपी में अव्‍वल

24 करोड़ के आबादी वाले उत्तर प्रदेश से देश के दूसरे प्रदेश टीकाकरण में कहीं पीछे हैं। पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, दिल्ली समेत अन्य प्रदेशों में जहां कम आबादी होने के बावजूद टीकाकरण धीमी गति से चल रहा वहीं यूपी लगातार रिकॉर्ड बना रहा है। यूपी से आधी आबादी वाले महाराष्‍ट्र में अब तक 09 करोड़ 63 लाख टीकाकरण किया जा चुका है जिसमें 06 करोड़ 61 को पहली डोज, 03 करोड़ को दूसरी डोज दी जा चुकी है। पश्चिम बंगाल में अब तक 07 करोड़ 40 लाख, केरल में 03 करोड़ 84 लाख, दिल्ली में 02 करोड़ 02 लाख और तमिलनाडु में 05 करोड़ 70 लाख टीकाकरण ही किया गया है।

वैक्सीनेशन को लेकर खुली महाराष्ट्र की पोल

महाराष्ट्र सरकार की ओर से 26 अक्‍टूबर को टीकाकरण को लेकर किए गए एक झूठे दावे के बाद सोशल मीडिया पर किरकिरी हुई। जिसके बाद मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा किए गए झूठे ट्वीट को डिलीट किया गया। महाराष्ट्र सरकार ने ट्वीट करके ये दावा किया था कि महाराष्ट्र ने मंगलवार को तीन करोड़ लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज देने वाला देश का पहला राज्य बन गया है। जबकि उत्तर प्रदेश ने 25 अक्टूबर को ही ये ये लक्ष्‍य हासिल कर लिया था।

सोशल मीडिया पर महाराष्ट्र सरकार और आदित्य ठाकरे हुए ट्रोल

महाराष्ट्र सरकार व आदित्य ठाकरे के ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने जमकर उनका मखौल उड़ाना शुरू कर दिया। ट्रोल होने के बाद महाराष्ट्र सरकार ने अपना ट्वीट डिलीट किया।