विकास का हठयोग देख मोदी हुए “हक्‍का”

मनोज श्रीवास्तव

: आयोजन सरकारी, छा गए अमर सिंह! : जितना बसपा-सपा अपने 5 वर्षों में नहीं किये उससे  ज्यादा 16 माह में कर दिया- योगी : लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि सामान्य जन को संकट से निकालना, उसे सुंदर बनाना ही हमारी सरकार का ध्येय है। वह उत्तर प्रदेश में देश के उधोगपतियों द्वारा राज्य की 81 परियोजनाओं पर 60 हजार करोड़ के निवेश कार्यक्रम के शुभारंभ पर संबोधित कर रहे थे। मोदी ने यूपी सरकार और नौकरशाहों को बधाई देते हुए कहा कि आप ने अकल्पनीय कार्य किया है।

उद्योगपतियों को कागजी कार्रवाई में व्यवहारिक कठिनाइयों का आभास कराते हुए मोदी बोले कि देश को प्रधानमंत्री चला पाता है या पटवारी चला पाता है। मोदी वहां उपस्थित भगवा कपड़े में बैठे पूर्व सपा महासचिव राज्यसभा सांसद अमर सिंह का नाम लेकर कहा कि पिछली सरकारों में उद्योगपतियों का कितना दुर्दशा और शोषण होता था अमर सिंह से पूछ लें। पिछली सरकारों में उद्योगपति राजनेताओं के यहां कैसे दंडवत करते थे।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल द्वारा केंद्र सरकार को उद्योगपतियों की हितैषी कहे जाने का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि हम उद्योगपतियों को अपमानित करेंगे चोर-लुटेरे कहेंगे? किसके जहाज में ये लोग घूमते हैं पता नहीं है क्या? मैंने यूपी की 22 करोड़ जनता को वचन दिया था कि उनके प्यार को सूद समेत लौटाऊंगा, ये औद्योगिक निवेश का शिलान्यास उसी का प्रयास है।

मोदी ने कहा कि मैं लंबे अर्से तक मुख्यमंत्री रहा तथा औद्यो‍गिक राज्य से आता हूँ। 60 हजार करोड़ का निवेश कम नहीं होता। यूपी सरकार की प्रशंसा करते प्रधानमंत्री ने कहा कि राज्य में विकास के लिए प्रतिबद्धता होती है तो रास्ते भी निकल आते हैं। निवेश आने से राज्‍य की स्थिति में सुधार होगा। युवाओं को रोजगार भी मिलेगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बसपा के 5 साल में कार्यकाल में यूपी में 57 हजार करोड़ का निवेश आया था। सपा सरकार के 5 साल में 50 हजार करोड़ का निवेश आया था, लेकिन अब महज 1 साल के अंदर 4 लाख 68 हजार करोड़ के एमओयू साइन होकर अगले 5 महीने में 60 हजार करोड़ से ज्यादा की निवेश परियोजनाओं का शुभारंभ हो रहा है। आगे भी 50 हजार करोड़ की परियोजनाएं पाइपलाइन में हैं, उन्हें भी जल्द मूर्तरूप देंगे।

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि पश्चिमी यूपी में 51 फीसदी, पूर्वांचल में 23 फीसदी, मध्य यूपी में 22 फीसदी और बुंदेलखंड में 4 फीसदी निवेश परियोजनाओं की शुरुआत हो रही है। एक समय था जब मार्च 2017 से पहले बहुत सारे निवेशक यूपी से बाहर जाने को तैयार थे, लेकिन आज यूपी में ऐसा माहौल है कि चाहे वो सैमसंग हो, एलजी हो या अन्य कोई निवेशक कंपनी, कोई भी यूपी से बाहर नही जाना चाहता है। उन्होंने कहा कि सभी को इलाहाबाद कुंभ 2019 के लिए और वाराणसी में आयोजित होने वाले 15वें प्रवासी भारतीय सम्मेलन के लिए आमंत्रित करता हूं।

स्थानीय सांसद तथा देश के गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि अभी तक देश के विकास का रास्ता दिल्ली, मुंबई और बंगलुरू से ही होकर जाता था। अब वह यूपी से होकर जाएगा। उद्योगपतियों को प्रदेश में अच्छे कानून व्यवस्था की दुहाई देते हुए कहा कि जरूरत हुई तो हम आप को और अच्छी सुरक्षा व्यवस्था उपलब्ध करायेंगे। उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद के अलावा लगभग पूरा प्रदेश मंत्रिमंडल उपस्थित था।manoj

वरिष्‍ठ पत्रकार मनोज श्रीवास्‍तव की रिपोर्ट.