नौकरी में आयेगी बहार, छह महीने में नियुक्ति पत्र बांटने की तैयारी में योगी सरकार

naukri
  • योगी आदित्‍यनाथ ने मांगे सभी विभागों से खाली पदों का ब्‍यौरा
  • भाजपा प्रवक्‍ता ने साधा अखिलेश सरकार पर निशाना

लखनऊ : उत्‍तर प्रदेश की योगी आदित्‍यनाथ की सरकार युवाओं के चेहरों पर मुस्‍कान लाने की तैयारी करने जा रही है। मुख्‍यमंत्री ने लोकभवन में विभाग प्रमुखों की बैठक में सभी विभागों में खाली पड़े पदों का तत्‍काल ब्‍यौरा मांगा है।

मुख्‍यमंत्री ने शुक्रवार को आयोजित बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिये कि सभी पदों की रिक्तियों की सूची बनाकर इस पर भर्ती प्रकिया तत्‍काल सुनिश्चित की जाये। उन्‍होंने कहा कि प्रदेश में अब तक हुई 3 लाख भर्तियों की तरह ही पारदर्शी तरीके से नियुक्तियां सुनिश्‍चत कराई जाये।

योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि भर्तियों की प्रक्रिया अगले तीन महीने में शुरू करके छह महीने में पारदर्शी तरीके से नियुक्ति पत्र बांटा जाये। इसमें किसी तरह की गड़बड़ी की गुंजाइश ना रहे। भर्तियों को लेकर मुख्‍यमंत्री पूरी तरह गंभीर हैं। जल्‍द से जल्‍द रिक्‍त पदों पर युवाओं को मौका देना चाहती है।

उन्‍होंने कहा कि जिस प्रकार यूपी लोक सेवा आयोग एवं अन्‍य सरकारी भर्तियां हुई हैं, उसी पारदर्शी एवं निष्‍पक्ष तरीके से नई भर्तियों को तेजी कराई जायें। उन्‍होंने 21 सितंबर को भर्ती आयोग तथा बोर्ड के प्रमुखों की मीटिंग बुलाई है, जिसमें भर्ती को लेकर समीक्षा की जायेगी।

इधर, भाजपा प्रवक्‍ता मनीष शुक्‍ला ने सपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि योगी सरकार जब सत्‍ता में आई तो तमाम भर्ती आयोग भंग मिले थे। मुख्‍यमंत्री ने पहले आयोगों का गठन किया तथा पारदर्शी तरीके से तीन लाख भर्तियां कीं। अब सरकार एक बार फिर सरकारी भर्तियां निकालकर पारदर्शी तरीके से युवाओं की भर्ती करने जा रही है।