नो-एंट्री में भारी ट्रकों के संचालन से लोगों को फजीहत : लगातार दुर्घटना के बावजूद जिला प्रशासन मौन

नो-एंट्री में भारी ट्रकों का संचालन बना लोगों के लिए मुसीबत का सबब,सड़क गड्ढे में हुआ तब्दील : चंदौली : अलीनगर सकलडीहा मार्ग पर ओवरलोड वाहनों की कतार इस कदर लग रही है कि राहगीरों का चलना दूभर हो गया है। यही नहीं इससे उड़ रहे धूल से सड़क किनारे बसे लोगों के साथ ही राहगीरों के लिए मुसीबत खड़ी हो गयी है। अलीनगर सकलडीहा मार्ग से प्रतिदिन जनपद ही नहीं बल्कि कई जनपद के ट्रकों का आवागमन रात के समय होता है। लेकिन नो एंट्री 5 बजे भोर में खत्म होने के बाद भी 10 बजे तक ओवरलोड ट्रकों की कतार इस कदर लगी रहती है कि साइकिल,मोटरसाइकिल के साथ पैदल भी निकलना राहगीरों के लिए मुसीबत भरा साबित हो रहा है। यही नहीं इससे उड़ रहे धूल से सड़क किनारे बसे लोगों के साथ राहगीरों का चलना भी काफी मुसीबत भरा साबित होता है।

लगातार दुर्घटनाएं भी घटित हो रही हैं। लगातार भारी वाहनों के संचालन से पूरी सड़क गड्ढों में तब्दील हो चुकी है। जिसमें राहगीर गिरकर चोटिल हो जा रहे हैं।

इधर कुछ माह में लगभग आधा दर्जन मौतें भी इसी गड्ढों की वजह से हो चुकी है। इसकी शिकायत कई बार राहगीरों ने किया।लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। इसको लेकर किसान नेता केदार यादव, प्रदीप गोंड, विजय मिश्रा ,कमलेश प्रधान, प्यारेलाल, रोहित कुमार सहित तमाम लोगों ने आक्रोश व्यक्त करते हुए इसपर रोक लगाने की मांग की है।