राशक कार्ड धारक को अनाज के साथ तेल-नमक और दाल भी अब मुफ्त

उत्तर प्रदेश।आगामी चुनाव को देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार अब गरीबों के लिए बनाई गई योजना पर काम कर रही है। दरअसल केंद्र सरकार की पीएम गरीब कल्याण योजना के तहत सरकार गरीबों को राशन देने की स्कीम को आगे बढ़ा रही है। सरकार के द्वारा अगले साल मार्च तक राशनकार्ड धारकों को मुफ्त अनाज मुहैया कराया जा सकता है, क्योंकि इसके लिए सूबे की सरकार 2022 तक इस मुफ्त राशन स्कीम पर योजनाबद्ध तरीके से काम पूरा कर रही है, जिसके बाद सरकार मुफ्त राशन देने का ऐलान कर सकती है। जी न्यूज़ की खबर के अनुसार ऐसा कहा जा रहा है कि चुनावों के मद्देनज़र लिए जाने वाले इस फैसले को मार्च तक पूरा करने का भरोसा है। आपको बता दें, इस योजना के तहत मुफ्त अनाज ही नहीं बल्कि कई खाद्य सामग्री देने की भी प्लानिंग चल रही है। ऐसा माना जा रहा है कि ये मुफ्त राशन योजना पूर्णतया गरीबों को ध्यान में रखकर बनाई जा रही है।
मार्च तक मुफ्त साशन मिलने की उम्मीद

मीडिया की खबर के मुताबिक, उत्तर प्रदेश सरकार मौजूदा केंद्रीय खाद्य वितरण कार्यक्रम ‘पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना’ को आगे बढ़ा कर साल मार्च तक गरीबों के बीच मुफ्त राशन पहुंचाने की योजना कर रही है। दरअसल इस योजना को कोरोना महामारी के दौरान शुरू किया गया था। इस योजना को लेकर पहले पीएम मोदी ने की घोषणा के अनुसार नवंबर तक चलाई जानी थी लेकिन अब इसके बाद इस योजना को उत्तर प्रदेश में अगले साल तक के लिए बढ़ाई जा सकती है।
सीएम योगी ने की योजना की तारीफ

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने विधायकों के साथ और अलग-अलग संगठनों के साथ बैठकों के दौरान फ्री राशन बांटे जाने की इस योजना की तारीफ की है। इतना ही नहीं उन्होंने योजना पर सुझाव देते हुए कहा कि इसे अगले साल मार्च तक जारी रखना चाहिए। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री ने फीडबैक पर तुरंत प्रतिक्रिया तो नहीं दी लेकिन इसके बाद अपनी टीम के साथ इस पर चर्चा करते हुए एक प्रस्ताव तैयार करने का निर्देश दिया।
योजना के अंतर्गत क्या मिलने की उम्मीद
केंद्र सरकार की मुफ्त राशन योजना के तहत 3 किलो गेहूं और 2 किलो चावल दिया जाता है। लेकिन, राज्य सरकार इसमें 1 किलो दाल, 1 लीटर तेल और नमक का एक पैकेट जोड़ने की योजना बना रही है।