उत्तर प्रदेश में शेष बचे बस 118 कोरोना मरीज, केरल में अब भी 83 हजार संक्रमित

उत्तर प्रदेश में कोरोना पर काबू बना हुआ है। विगत 24 घंटे में हुई 01 लाख 27 हजार 322 सैम्पल की टेस्टिंग में 71 जिलों में संक्रमण का एक भी नया केस नहीं पाया गया। कुल 12 नए संक्रमित मरीज मिले, जबकि 16 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए। वहीं, महाराष्ट्र, केरल और तमिलनाडु में कोरोना का कहर अब भी जारी है। बीते 24 घंटों का हाल देखें तो केरल में 07 हजार, महाराष्ट्र में 1400 और तमिलनाडु में करीब 12 सौ नए कोरोना मरीज मिले। 24 करोड़ की आबादी वाले यूपी के 75 में से 42 जिलों में कोरोना का एक भी एक्टिव मरीज नहीं है, जबकि 18 जिलों में 01-01 मरीज हैं। वहीं, केरल में 83 हजार एक्टिव केस हैं तो महाराष्ट्र में 28 हजार से अधिक कोरोना संक्रमित उपचाराधीन हैं। यूपी में पॉजिटिविटी दर शून्य फ़ीसदी से भी कम होने के बाद भी हर दिन औसतन दो लाख कोविड टेस्ट किए जा रहे हैं। यहां एक्टिव कोविड केस की संख्या 118 रह गई है, जबकि 16 लाख 87 हजार 31 प्रदेशवासी कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर स्वस्थ हो चुके हैं। उत्तर प्रदेश में अब तक 08 करोड़ 16 लाख से अधिक सैम्पल की कोविड जांच की जा चुकी है। औसतन हर दिन ढाई लाख से अधिक टेस्ट हो रहें हैं, जबकि दैनिक पॉजिटिविटी दर 0.01 से भी कम और रिकवरी दर 98.7 फीसदी है। ताजा स्थिति के मुताबिक, जनपद अमरोहा, औरैया, बदायूं, बागपत, बलिया, बाराबंकी, बस्ती, बहराइच, बिजनौर, चन्दौली, चित्रकूट, देवरिया, एटा, इटावा, फर्रुखाबाद, फतेहपुर, गोंडा, हमीरपुर, हापुड़, हरदोई, हाथरस, झांसी, कानपुर देहात, कानपुर नगर, कासगंज, कौशाम्बी, कुशीनगर, लखीमपुर-खीरी, ललितपुर, महोबा, मीरजापुर, मैनपुरी, मऊ, मुरादाबाद, प्रतापगढ़, रामपुर, संतकबीरनगर, शामली, श्रावस्ती, सीतापुर, उन्नाव और सोनभद्र में कोविड का एक भी मरीज शेष नहीं है। यह जनपद आज कोविड संक्रमण से मुक्त हैं।

टेस्ट और टीका में यूपी है अव्वल

कोविड टेस्ट और टीकाकरण की देशव्यापी स्थिति को देखें तो बचाव की दोनों जरूरी कोशिशों में यूपी पहले पायदान पर बना हुआ है। यहां अब तक 12 करोड़ से अधिक वैक्सीन डोज लगाए जा चुके हैं। 09 करोड़ 32 लाख से अधिक लोगों ने टीके की पहली डोज प्राप्त कर ली है। यह टीकाकरण के लिए पात्र प्रदेश की कुल आबादी के 63.24 फीसदी से ज्यादा है। 02 करोड़ 68 लाख से अधिक लोगों ने टीके की दोनों डोज ले ली है। दूसरे स्थान पर 09.13 करोड़ डोज लगाकर महाराष्ट्र है, जबकि गुजरात, पश्चिम बंगाल और मध्य प्रदेश, क्रमशः तीसरे, चौथे और पांचवें स्थान पर हैं।