पीलीभीतः गोमती उद्गम स्थल पर तोड़फोड़, श्रद्धालुओं में आक्रोश

  • होमगार्ड ने युवक को पकड़कर किया पुलिस के सुपुर्द
  • पुलिस बोली, तोड़फोड़ करने वाला मानसिक दिव्यांग

पीलीभीत। उत्तर प्रदेश के जनपद पीलीभीत के थाना माधोटांडा क्षेत्र में गोमती उद्गम स्थल के पास स्थापित धार्मिक स्थल पर सोमवार सुबह एक सिरफिरे ने तोड़फोड़ शुरू कर दी। धार्मिक स्थल में लगे शीशे टूटने की आवाज सुुनाई दी, तो वहीं ड्यूटी पर मौजूद होमगार्ड के पसीने छूट गए। उसने साथी होमगार्ड की मदद से सिरफिरे को पकड़
लिया। धार्मिक स्थल पर तोड़फोड़ की सूचना मिलते ही श्रद्धालुओं में आक्रोश फैल गया और भारी संख्या में लोग मौके पर पहुंच गए। जिन्हें पुलिस ने समझा-बुझाकर शांत किया। पुलिस के मुताबिक तोड़फोड़ करने वाला युवक मानसिक दिव्यांग बताया जा रहा है।
पुलिस के अनुसार सोमवार तड़के करीब 5ः30 बजे लोहारपुरी निवासी धनपाल उद्गम स्थल आया हुआ था। वह गोमती मंदिर के पास पहुंचा और कुल्हाड़ी लेकर मंदिर के शीशे तोड़ने लगा। शोर-शराबे की आवाज होने पर वहां मौजूद गश्तीदल के होमगार्ड पहुंचे। उन्हें देखकर आरोपी भागने लगा। उन्होंने दौड़ा कर आरोपी को पकड़ लिया और
माधोटांडा पुलिस के हवाले कर दिया गया। मंदिर में तोड़फोड़ की सूचना पर काफी संख्या में श्रद्धालु मौके पर पहुंच गए और पुलिस से सख्त कार्रवाई करने की बात कहने लगे। पुलिस ने उन्हें बमुश्किल समझाकर शांत किया। माधोटांडा एसओ ने बताया कि आरोपी मानसिक दिव्यांग बताया जा रहा है। वह अक्सर मंदिर में पूजा करने आता था। ना जाने क्यों उसने तोड़फोड़ कर डाली।

एक मानसिक दिव्यांग युवक जो कि अक्सर धार्मिक स्थल पर आता-जाता था। सोमवार सुबह अचानक उसने मंदिर तोड़फोड़ करने की कोशिश की लेकिन उसे होमगार्डो ने पकड़ लिया है। वह मानसिक दिव्यांग बताया जा रहा है। मौके पर स्थिति सामान्य है।
शहरोज आलम, थानाध्यक्ष माधोटांडा


Pilgrimage ransacked at Gomti origin point, outrage among devotees