वनों और प्राकृतिक धरोहरों का संरक्षण सभी का दायित्व: नवनीत सिंह चहल

मदन चौरसिया

चन्दौली। जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल आज 72वां स्वतन्त्रता दिवस के अवसर पर अपने आवास पर प्रातः 07ः30 बजे ध्वजारोहण करने के उपरान्त कलेक्ट्रेट कार्यालय परिसर में ध्वजारोहण/राष्ट्रगान कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। इस दौरान कलेक्ट्रेट सभागार में स्वतन्त्रता सेनानियों/कलेक्ट्रेट के अधिकारी/कर्मचारियों से रूबरू होकर अपने देश को स्वतन्त्रत की आजादी दिलाने वाले बीर सपूतों को नमन करते हुये जनपद के स्वतन्त्रता सेनानियों के घर से आये हुये सदस्यों को अंगवस्त्रम् देकर सम्मान किया।

कहा कि देश को स्वतन्त्र करने में जो सहयोग दिये इसके लिए देश का हर नागरिक बीर सपूतो को याद किया करते है अपने आने वाली पीढ़ी को देश के लिए बलिदान देने वाले लोगों के बारे में बताते है। कहा कि हमारा जनपद कृषि, औद्योगिकी क्षेत्र में तिव्र गति से विकास के पथ पर चल रहा है जनपद के हम सभी व्यक्तियों का दायित्व है कि जनपद के लोग एकजुट होकर वनों और प्राकृतिक धरोहरों का संरक्षण करे और दुसरों को प्रेरित करे।

कहा कि अपने देश से जातिवाद, गरीबी, भेदभाव को खत्म कर हम सभी लोग एक दुसरे का मदद करे तभी हमारा देश दुसरे देश के तुलना में विकास के पथ पर तीव्र गति से आगे बढ़गे। कहा कि एक दुसरे से उलझने और निरर्थक विवादों में पड़ने की बजाय सभी को एकजुट होकर गरीबी, अशिक्षा और असमानता को दूर करने का प्रयास किया जाना चाहिए। कहा कि केन्द्र व प्रदेश सरकार खुले में शौच से मुक्ति, अथाह बिजली आपूर्ति, असहाय व पात्र व्यक्तियों के घरों को दिलाने के लिए तीव्र गति से कार्य कर रही है।

कहा कि अन्तिम पायदान पर खड़ा व्यक्ति को जीवन-स्तर में तेजी से सुधारने का कार्य सरकार द्वारा किया जा रहा है इसके लिए पात्र व्यक्ति को आगे आकर अपने हक के लिए आवाज उठाकर अपना हक ले। कहा कि पूरी दुनिया की नजर हमारे देश के हर घटनाक्रम पर है। ऐसे में एक सशक्त राष्ट्र के लिए आपसी भाईचारा और सोहार्द हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए।

चंदौली से मदन चौरसिया की रिपोर्ट.