जून में रिलीज होगी मैथिली फिल्‍म ‘प्रेमक बसात’

मदन चौरसिया

मुंबई : पहली बार तकनीक और लाजवाब स्‍टोरी लाइन के साथ बनी मैथिली फिल्‍म ‘प्रेमक बसात’ जून में रिलीज होगी। ये जानकारी फिल्‍म के निर्माता वेदांत झा ने दी। उन्‍होंने कहा कि फिल्‍म की शूटिंग अब कंप्‍लीट हो चुकी है और पोस्‍ट प्रोडक्‍शन का काम मुंबई में पूरा कर लिया गया है। हमने इसे जून के महीने में रिलीज करने का फैसला किया है। उन्‍होंने बताया कि भारत के अलावा हम अपनी फिल्‍म ‘प्रेमक बसात’ वर्ल्‍ड वाइड नेपाल, कतर और यूएई में भी रिलीज करेंगे, क्‍योंकि वहां भी लोग मैथिली को बोलते–समझते हैं। हालांकि इंडस्‍ट्री अभी छोटी है और फिल्‍में कम बनती हैं, मगर यह फिल्‍म मैथिली के मेकरों को एक नया विजन देगी।

फिल्‍म के निर्देशक रूपक सरर की मानें तो यह मैथिली की नायब फिल्‍म होगी। इसमें मैथिली संस्‍कार और सामज को हमने बखूबी दिखाने की कोशिश की है। इसके डॉयलोग लोगों को काफी पसंद आयेंगे। साथ ही गाने भी इतने कर्णप्रिय हैं, लोग इसे बार – बार सुनेंगे। इसमें भी मिथिला लोक गायन और नये म्‍यूजिक का समागम देखने को मिलेगा। फिल्‍म में बतौर अभिनेता पियूष कर्ण डेब्‍यू कर रहे हैं, जो मूलत: नेपाल के इंटरनेशनल मॉडल हैं और उन्‍होंने कन्‍नड़ में एक शॉर्ट फिल्‍म भी की है। उनके अपोजिट फीमेल लीड रैना बनर्जी हैं, जो साउथ की फिल्‍मों में भी काम कर चुकी हैं। दोनों की ऑन स्‍क्रीन केमेस्‍ट्री शानदार है। उनके अलावा सभी कलाकारों ने फिल्‍म में खूब मेहनत की है।

जे एम के इंटरटेनमेंट के बैनर तले बनी मैथिली फिल्म ‘प्रेमक बसात’ के एग्‍जक्‍यूटिव प्रोड्यूसर कुणाल ठाकुर, प्रचारक संजय भूषण पटियाला और आर्ट डायरेक्‍टर प्रेमचंद हैं। जबकि म्‍यूजिक प्रवेश मल्लिक और सरोज सुमन का है। डीओपी नरेन्दर पटेल और नृत्य निर्देशन केदार सुब्बा और राजीव समर ने निर्देशित किया है। लाइन प्रोड्यूसर अजीत सिंह, एडिटर गोविंद दुबे और पब्लिसिटी डिजाइन सुमित्रा सिंह ने किया है। फिल्‍म में पियूष कर्ण, रैना बनर्जी, मोना रे, प्रज्ञा झा, राकेश त्रिपाठी, कल्पना मिश्रा, एस.पी.मिश्रा, गोविन्द पाठक, राजीव झा, प्रेम नाथ झा, जितेन्दर झा, सैला झा,आशुतोष सागर, राजेंदर कर्ण, अनुराग कपूर, संगीत झा और कुणाल ठाकुर मुख्‍य भूमिका में हैं।

वरिष्‍ठ पत्रकार मदन चौरसिया की रिपोर्ट. मदन चौरसिया माया, धर्मयुग, मायापुरी, टर्निंग इंडिया, पायनियर, दैनिक जागरण, स्‍वतंत्र भारत, आज, जनसंदेश टाइम्‍स जैसे संस्‍थानों में लंबे समय तक कार्यरत रहे हैं. फिल्‍म पत्रकारिता में महारत रखते हैं.