राम, शंकर एवं कृष्‍ण सुरक्षा में

मनोज श्रीवास्‍तव

लखनऊ। भाजपा सरकार में राम, शंकर और कृष्‍ण पुलिस के पहरे में आ गए हैं। राष्‍ट्रीय पर्व पर धार्मिक स्‍थलों पर बढ़े खतरे को देखते हुए पुलिस ने पूरे राज्‍य के मंदिरों की सुरक्षा-व्‍यवस्‍था को चाक-चौबंद कर दिया है।

राजधानी लखनऊ में भी विधानसभा समेत सभी महत्‍वपूर्ण स्‍थलों की सुरक्षा व्‍यवस्‍था बढ़ा दी गई है। हुसैनगंज इलाके को हाई सिक्‍युरिटी जोन में रखा गया है, क्‍योंकि एक दशक पहले स्‍वतंत्रता दिवस के दिन ही कूकर बम से विस्‍फोट कराया गया था। हालांकि सुरक्षा की चाक-चौबंद व्‍यवस्‍था के चलते श्रद्धालुओं का मंदिर पहुंचना भी मुश्किल हो गया है।

स्‍वतंत्रता दिवस के अलावा कांवर यात्रा के दौरान आतंकी खतरे के इनपुट को देखते हुए सुरक्षा व्‍यवस्‍था और पुख्‍ता कर दी गई है। पूर्वांचल तथा पश्चिमी यूपी के आईएसआई प्रभावित जिलों में आतंकी खतरे तथा कांवरियों के भेष में आतंकियों के सक्रिय होने के इनपुट को देखते हुए पुलिस ने सुरक्षा के कई स्तरों को मजबूत कर दिया है।

अपनी इस पहल से यूपी सरकार हिंदू विरोधियों का मनोबल तोड़ने में कामयाब रही है। सपा-बसपा के शासनकाल में हाशिए पर रहे हिंदुओं की मजबूती को देखते हुए मुसलमान परेशान है। गठबंधन पार्टियों से ज्‍यादा मुस्लिम मतदाताओं की मर्जी है। मुसलमान मतदाता अपने वोटों के बंटने के डर से गठबंधन की पैरवी में जुटा हुआ है। हिंदुओं की चहेती सरकार उसे रास नहीं आ रही है।manoj

वरिष्‍ठ पत्रकार मनोज श्रीवास्‍तव की रिपोर्ट.