चंदौली में गंगा कटान की समस्‍या को लेकर राज्‍यपाल से मिला प्रतिनिधिमंडल

ram naike

: राम नाईक ने लिखा संबंधित विभागों को पत्र : लखनऊ। चंदौली जनपद का एक प्रतिनिधिमंडल समाजसेवी अंजनी सिंह के नेतृत्‍व में गंगा कटान की समस्‍या तथा धानापुर में उच्‍च शिक्षा से जुड़ी दिक्‍कतों को लेकर राज्‍यपाल से मिला तथा उन्‍हें अपना पत्रक सौंपा। जिले की सबसे ज्‍वलंत समस्‍या को सुनने के बाद राज्‍यपाल ने मांग पत्र को गंभीरता को देखते हुए संबंधित विभाग के जिम्‍मेदार लोगों को पत्र लिखकर उचित कार्रवाई करने के लिए निर्देशित किया।

उन्‍होंने प्रतिनिधिमंडल से यह भी पूछा कि किसके यहां इस पत्रक को भेजने से समस्‍याओं का समाधान जल्‍दी हो सकता है। जानकारी के बाद उन्‍होंने संबंधित विभाग के मंत्री को पत्र लिखने का निर्देश अपने अधीनस्‍थों को दिया। साथ ही धानापुर में एमएससी की कक्षाएं संचालित किए जाने के संदर्भ में भी उन्‍होंने कुलपति को पत्र लिखने का निर्देश दिया।

समाजसेवी अंजनी सिंह के नेतृत्‍व में गए प्रतिनिधिमंडल ने अपने मांग पत्र में गंगा कटान से प्रभावित गांव सैफपुर, रामपुर दिया, नौघरा, रायपुर, नरौली, अमादपुर, बड़ौरा, गुरैनी, कवलपुरा, प्रसाहटा, कैली, कुंडा, तिरगावा को बचाने के लिए गंगा में पड़े रेत को हटवाने तथा गंगा के धारा को बीच में कराए जाने की मांग की। कटान रोकने के लिए सैफपुर कवालपुरा एवं गुरैनी के पास ठोकर और दीवाल बनाने के साथ-साथ कटान की जद में आये गुरैनी पंप कैनाल को बचाने से संदर्भित मांग पत्रक दिया।

प्रतिनिधिमंडल ने राज्‍यपाल को बताया कि बन्दी प्रखंड द्वारा डिटेल सर्वे और प्रोजेक्ट तैयार के लिए शासन से 21 लाख 95 हजार रुपये के मांग की गई है, जिसे निर्देश देकर इस मांग को जल्‍द से जल्‍द स्‍वीकृत कराया जाए। राज्‍यपाल राम नाईक ने सिंचाई मंत्री को इस बाबत कार्रवाई करने का लिखित पत्र जारी करने का निर्देश दिया ताकि इस समस्‍या का समाधान शीघ्र से शीघ्र कराया जाना सुनिश्चित हो सके।

प्रतिनिधिमंडल ने शहीद हीरा सिंह राजकीय महाविद्यालय में एमएससी की कक्षाएं शुरू कराने एवं महाविद्यालय में रिक्त पदों पर प्राध्यापकों एवं कर्मचारियों, लैब असिस्टेंस नियुक्ति करने की मांग पत्र भी सौंपा।  इस पर राज्यपाल ने महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के कुलपति को मांगपत्र को स्वीकृत करने हेतु अग्रसारित किया। प्रतिनिधिमंडल में अंजनी सिंह के साथ मुख्य रूप से अबुलकैश ”डब्बल”, प्यारे यादव, बचाऊ सिंह, नवीन सिंह, प्रदीप, सलगु यादव शामिल रहे।