निजीकरण-बेरोजगारी के खिलाफ कांग्रेस का प्रदर्शन, पुलिस से जमकर धक्का-मुक्की

  • कांग्रेसियों को कलेक्ट्रेट जाने से रोकने में छूटा पुलिस प्रशासन का पसीना

  • सिटी मजिस्ट्रेट के समझाने पर शांत हुए कांग्रेसी, दिया ज्ञापन

शाहजहांपुर। निजीकरण और बेरोजगारी के खिलाफ धरना-प्रदर्शन करने कलेक्ट्रेट जा रहे कांग्रेसियों का रास्ता रोकना खाकी वर्दी को भारी पड़ गया। कांग्रेस नेताओं और पुलिस के बीच जमकर धक्का-मुक्की और नोंकझोक हुई। कांग्रेसियों को रोकने में पुलिस का पसीना छूट गया। सिटी मजिस्ट्रेट व सीओ सिटी के समझाने के बाद सब कांग्रेसी शांत हुए तथा सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन सौंपा।

गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन के अवसर विपक्षी दलों के द्वारा राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस मनाया। कांग्रेस पार्टी भी बेरोजगारों के पक्ष में सड़कों पर उतरी। शाहजहांपुर युवा कांग्रेस के लोकसभा अध्यक्ष रोहित सिंह के साथ जिला कार्यालय राजीव भवन पर कांग्रेस कार्यकर्ता जुटे जहां से सभी इकट्ठे कलक्ट्रेट के लिए कूच किया।

नगर निगम कार्यालय के पास पुलिस ने उन्हें रोकने कोशिश की। पुलिस के रवैये से कांग्रेसी आक्रोशित हो गए। पुलिस और कांग्रेसियों में धक्का मुक्की और नोंकझोक हुई। कुछ कांग्रेसी रिक्शा आदि पकड़कर आगे जाने लगे, तब पुलिस ने दौड़कर उन्हें रोक लिया। कांग्रेसियों को रोकने में पुलिस कर्मियों को पसीना छूट गया।

बाद में सिटी मजिस्ट्रेट व सीओ सिटी के समझाने के बाद कांग्रेसी शांत हुए। इस मौके पर सुनीता सिंह, कृष्ण विनोद मिश्र, मनिल बाजपेयी, फुरकान अहमद कुरैशी, अमित बाजपेई, अनु मिश्रा, शिवम स्याल, पवन मिश्रा, इरफान हसन खान, शहजाद खान, बबली जोशी, सुनीता मिश्रा, मीना, कामिनी शुक्ला, संगीता ठाकुर, अयान अली, रफी खान, हरनाम कटिहार आदि बड़ी तादाद में युवा कार्यकर्ता मौजूद रहे।