शाहजहांपुर: भाई को छुड़वाने के लिए युवक का हाईवोल्टेज ड्रामा, एसपी कार्यालय पहुंच गया आत्मदाह करने

संजीव पांडेय, शाहजहांपुर। उत्तर प्रदेश के जनपद शाहजहांपुर के मोहल्ला अजीजगंज में एक घर में घुसकर मारपीट और फायरिंग के मामले में पकड़े गए युवक को छुड़वाने के लिए छोटे भाई ने मंगलवार को एसपी कार्यालय में हाईवोल्टेज ड्रामा खड़ा कर दिया। उसने खुद पर पेट्रोल छिड़क कर आग लगाने की कोशिश की। लेकिन उसे पकड़ लिया गया। इस घटना से एसपी कार्यालय में हड़कंप मच गया।
चैक कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला अजीजगंज निवासी भानुप्रताप का गांव नवादा इंदेपुर निवासी प्रमोद अंगुरिया उर्फ छोटू के साथ सोमवार देर शाम किसी बात को लेकर विवाद हो गया था। इस पर प्रमोद अपने साथी विमलेश कुमार के साथ तमंचा लेकर भानु के घर में घुस गया और मारपीट शुरू कर दी। इस दौरान हमलावरों ने जान से मारने की नीयत से फायर भी किया। शोर-शराबा सुनकर मोहल्ले के लोग इकट्ठा हो गए और हमलावरों को पकड़ लिया। सूचना 112 नंबर डायल कर पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस की सुपुर्दगी में दोनों को दे दिया गया। पुलिस को दोनों के पास से एक तमंचा भी बरामद हुआ। भानु की तहरीर पर पुलिस ने मारपीट, गाली-गलौज और जान से मारने के प्रयास आदि धारा में रिपोर्ट दर्ज कर ली। प्रमोद को छुड़वाने के लिए उसके छोटे भाई राहुल ने हाई बोल्टेज ड्रामा रचा। वह पेट्रोल की बोतल लेकर एसपी कार्यालय पहुंच गया। यहां उसने भाई को फर्जी मामले में जेल भेजे जाने का आरोप कोतवाली पुलिस पर लगाते हुए खुद पर पेट्रोल छिड़क लिया। उसके पेट्रोल छिड़कते ही एसपी कार्यालय में मौजूद पुलिस कर्मियों के हाथ-पांव फूल गए। इससे पहले की वह जलती हुई माचिस की तीली खुद को लगाता, इतने में पुलिस कर्मियों ने उसे पकड़ लिया और कोतवाली ले गई। जहां से उसे जिला अस्पताल भेज दिया गया। अनैतिक दबाव बनाने वाले युवक राहुल के खिलाफ भी कार्रवाई की तैयारी की जा रही है। इंस्पेक्टर प्रवेश सिंह ने बताया कि राहुल भी अपराधिक प्रवृत्ति का है। यहां हत्या के प्रयास के मामले में जेल जा चुका है।

राहुल नाम का युवक अपने भाई प्रमोद को छुड़ावने के लिए पुलिस पर दबाव बनाने के लिए आत्मदाह करने की कोशिश करने आया था। जिसे पकड़ लिया गया है। राहुल भी अपराधिक प्रवृत्ति का व्यक्ति है। इसके भाई प्रमोद ने भी सोमवार को एक मकान में घुसकर मारपीट और फायरिंग की थी। भाई को छुड़वाने के लिए अनैतिक दबाव बनाना चाहता था।
– एस आनंद, एसपी