शिवाचार्य की परंपरा ने जातिभेद से ऊपर उठकर भारत के मूल्यों के लिए काम किया : योगी आदित्यनाथ

yogi

: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने काशी स्थित जंगमबाड़ी मठ में जगद्गुरु विश्वाराध्य गुरुकुल के शताब्दी समारोह को सम्बोधित किया : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत की आस्था को दुनिया में सम्मान मिला : वाराणसी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पवित्र शिवाचार्य की परंपरा बहुत ही समृद्ध है। इसने जातिभेद से ऊपर उठकर, भारत के मूल्यों के लिए विपरीत परिस्थितियों में काम किया है। आज 5 पीठों के माध्यम से सनातन हिन्दू धर्म को मजबूती प्रदान करने का कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि आपने 2014 के बाद आदरणीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत के गौरव को लहराते हुए और भारत की आस्था को सम्मान पाते हुए देखा है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को काशी स्थित जंगमबाड़ी मठ में जगद्गुरु विश्वाराध्य गुरुकुल के शताब्दी समारोह को सम्बोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि इस गुरुकुल की समृद्ध परंपरा के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का सानिध्य प्राप्त होना भारत की आस्था को एक नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि सचमुच जीव, जगत, ईश्वर, बंधन और मोक्ष का साक्षी यह ग्रन्थ पूरे जगत में प्रत्येक मनुष्य को उसके अभीष्ट लक्ष्य तक पहुंचाने में अत्यंत सहायक है। उन्होंने कहा कि 8वीं शताब्दी में रचे गए श्रीसिद्धांतशिखामणि जैसे पवित्र ग्रंथ का विभिन्न भाषाओं में अनुवाद और उसके मोबाइल एप का लोकार्पण प्रधानमंत्री मोदी के कर कमलों से होने जा रहा है। इस अवसर पर इस पवित्र परंपरा से जुड़े सभी जगद्गुरुओं, संन्यासियों, संतगणों तथा भक्तों को हृदय से बधाई देता हूं।