फ्यूज बल्बों की झालर इकट्ठा कर रही सपा, विधानसभा चुनाव में सब निकलेंगे दगे कारतूस: सिंह

कैबिनेट मंत्री और राज्य सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थ नाथ सिंह ने विधानसभा चुनाव में 400 सीटें पाने का दावा करने वाले समाजवादी पार्टी के एक नेता से कई तीखे सवाल पूछे हैं। उन्होंने सवाल किया कि देश में किस नेता ने अपने पिता को पार्टी के अध्यक्ष पद से जबरन हटाया?, ऐसा तो औरंगजेब ने किया था, अपने पिता शाहजहां को ही जेल भेजा था। उन्होंने सवाल किया कि देश के किस नेता ने अपने चाचा को पार्टी से जबरियां बेदखल किया? और खुद कुर्सी कब्जा ली। उन्होंने सवाल किया कि देश के किस नेता ने अपनी भाई की पत्नी को पार्टी में भी जगह नहीं दी और उनके टिकट को लेकर भी हीलाहवाली करते हैं?

यह बातें उन्होंने सोमवार को पत्रकारों से बातचीत में कहीं। उन्होंने कहा कि देश के इतिहास में ऐसा पुत्र पहले कभी नहीं देखा गया, लेकिन समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने सभी रिश्तों को तारम्तार किया है। रही बात पार्टी की, तो उसे भी उन्होंने हासिए पर पहुंचा दिया है। सपा फ्यूज बल्बों की झालर इकट्ठा कर रही है, विधानसभा चुनाव में सब दगे कारतूस निकलेंगे।
उन्होंने पूछा कि सपा के शासनकाल में यह नारा किसने दिया था ‘सपा का नारा है, खाली प्लॉट हमारा है’? प्रदेश में क्यों जंगलराज और माफिया का बोलबाला था?, भ्रष्टाचार को लेकर उन्होंने सवाल पूछा कि किसकी सरकार में तबादला उद्योग चलता था? किसकी सरकार में नौकरियां रेवड़ियों के भाव बेची जाती थीं? किसकी सरकार में ठेकों और पट्टों में कमिशनबाजी होती थी? किसकी सरकार में कागजों में ही काम हो जाते थे? उन्होंने कहा कि यह वही समाजवादी पार्टी है, जिसके राज में सीओ की हत्या हुई, जवाहर बाग कांड हुआ और रोज दंगे होते थे।

प्रदेश में अब बच्चे नहीं, इंसेफ्लाइटिस दम तोड़ रहा: सिंह
उन्होंने कहा कि भाजपा की डबल इंजन सरकार में अपराध और भ्रष्टाचार को लेकर जीरो टॉलरेंस की नीति है। अपराधियों, माफिया और भ्रष्टाचारियों की संपत्तियां जब्त हो रही हैं। जबकि पहले इन्हें सरकार ही संरक्षण देती थी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की देन है कि प्रदेश में अब बच्चे नहीं, इंसेफ्लाइटिस दम तोड़ रहा है। जबकि यह बीमारी पिछली सरकारों में भी थी, लेकिन इसे समाप्त करने की जिजिविषा किसी मुख्यमंत्री में नहीं थी।