जो सैलाब आपको दिख रहा हैं उसमें सपा का डूबना भी तय: सिद्धार्थ नाथ

सैलाब का क्या भरोसा? डुबोती हैं और किनारे भी लगाती हैं। प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव में अंतिम रूप से किसे डूबना है, यह आप भी जानते हैं और प्रदेश की जनता भी। अंतिम रूप से डूबने तक इसी तरह आत्ममुग्ध रहें। आत्मसंतोष के लिए इसी तरह सैलाब देखे और उनकी लहरें गिनते रहें।।
यह बातें उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने गुरुवार को जारी एक बयान में कही। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी के पतन का इतिहास तो उसी दिन से लिखा जा रहा है जबसे कुछ लोग “घरफोड़वा” हो गए। 2022 के चुनाव में तो सपा के पतन के इतिहास का उपसंहार लिखा जाएगा। इस उपसंहार में आपके बारे में क्या लिखा जाएगा,आपको भी पता है।

प्रवक्ता ने कहा, रही आपके महागठबंधन की बात तो इससे पहले भी आप बुआ, कांग्रेस के राजकुमार से गठबंधन कर चुनाव लड़ चुके हैं। क्या हश्र हुआ आपको पता है। इस बार उससे भी बुरा हश्र होगा।
मालूम हो कि अखिलेश ने अपने एक ट्वीट में लिखा है कि, ” हलधरपुर का ज़न सैलाब,लिख देगा नया इतिहास”।
आजमगढ़ में दिया गया भाषण झूठ का पुलिंदा

सिद्धार्थनाथ ने कहा कि आजमगढ़ में गुरुवार को दिया गया अखिलेश यादव का भाषण तो झूठ का पुलिंदा है। वह खुद अपनी पार्टी को किसी एजेन्सी/दुकान की तरह चलाते हैं। अगर उन्होंने इतना ही विकास किया और जनता के इतने ही हमदर्द जनता सपा को 2014 से चुनाव दर चुनाव क्यों खारिज कर रही है।??