उभ्‍भा कांड : तत्‍कालीन डीएम को बचा ले गई ब्‍यूरोक्रेसी, 22 के खिलाफ मामला दर्ज

ubhbha kand

: 21 सरकारी लोगों के खिलाफ होगी विभागीय कार्रवाई : आशा मिश्रा एवं विनीता शर्मा से वसूली जायेगी रकम : लखनऊ : अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने बताया कि जनपद सोनभद्र की तहसील तथा थाना घोरावल स्थित ग्राम उभ्‍भा (ubhbha) की जमीनों पर धोखाधड़ी करके अवैध कब्जा की जांच पूरी हो चुकी है। कब्‍जे की शिकायत पर एसआईटी (SIT) द्वारा उपलब्ध करायी गयी जांच रिपोर्ट तथा शासन स्तर की समिति द्वारा की गयी संस्तुति के आधार पर दोषी पाये गये कार्मिकों के विरूद्व कार्रवाई करने के निर्णय लिया गया है।

श्री अवस्थी ने बताया कि आशा मिश्रा पत्नी प्रभात मिश्रा, अशोक कुमार श्रीवास्तव तत्कालीन उपजिलाधिकारी राबर्ट्सगंज, जयचन्द सिंह तत्कालीन तहसीलदार राबर्ट्सगंज, राजकुमार तत्कालीन सहायक अभिलेख अधिकारी ओबरा सोनभद्र, निरीक्षक मूलचन्द चौरसिया पुत्र जगन्नाथ चौरसिया,  निरीक्षक आशीष कुमार सिंह पुत्र धनमान सिंह, उप निरीक्षक पद्मकान्त तिवारी पुत्र स्व. परशुराम तिवारी,  सुरेश चन्द्र पुत्र मूलचन्द्र हाल पद नियुक्त तहसीलदार घोरावल जनपद सोनभद्र, अखिलेश मिश्रा पुत्र वंश नारायण मिश्रा हाल नियुक्ति आशुलिपिक कार्यालय उप जिलाधिकारी घोरावल (ghorawal) सोनभद्र के खिलाफ मामला दर्ज कराने का निर्णय लिया गया है।

सरकारी कर्मचारियों के अतिरिक्‍त उक्‍त जमीन पर कब्‍जा करने वाले कोमल सिंह पुत्र स्व. रामधनी सिंह,  श्रीमती ममता सिंह पत्नी कोमल सिंह,  राज कुमार सिंह पुत्र देवदत्त सिंह, शिवकुमार सिंह पुत्र निधिदत्त सिंह, यज्ञदत्त सिंह पुत्र स्व. श्याम बिहारी सिंह, धर्मेन्द्र कुमार सिंह पुत्र स्व. श्याम बिहारी सिंह,  विवेक सिंह पुत्र कोमल सिंह, अनुप कुमार सिंह पुत्र देवदत्त सिंह, गणेश सिंह पुत्र देवदत्त सिंह, शिवानी सिंह पुत्री यज्ञदत्त सिंह, ऊषा कुमारी पुत्री अनूपलाल, विमलेश कुमार सिंह पुत्र धनुषधारी सिंह, श्रीमती सुभराजी पत्नी स्व. श्याम बिहारी के विरूद्व धारा-120बी सपठित धारा-420 भादवि व धारा 13(क) भ्रष्टाचार निवारण (संशोधन) अधिनियम 2018 के अन्तर्गत आरोप प्रमाणित पाये जाने के फलस्वरूप उपरोक्त कार्मिकों के विरूद्व आरोप पत्र प्रेषित किये जाने का निर्णय लिया गया है।

जिलाधिकारी पर सरकार ने दिखाया रहम : अवस्‍थी ने यह भी बताया कि अंकित अग्रवाल तत्कालीन जिलाधिकारी (DM) सोनभद्र (sonebhadra) अपर पुलिस अधीक्षक अरुण कुमार दीक्षित पुत्र जेके दीक्षित,  उपजिलाधिकारी विजय प्रकाश तिवारी पुत्र केशव प्रसाद तिवारी,  से. नि. पुलिस उपाधीक्षक विवेकानन्द तिवारी पुत्र स्व.  सुरेन्द्र नाथ तिवारी, पुलिस उपाधीक्षक राहुल मिश्रा पुत्र स्व. चन्द्र कान्त मिश्रा, पुलिस उपाधीक अभिषेक कुमार सिंह पुत्र वीरेन्द्र सिंह, डा. कृष्ण गोपाल सिंह तत्कालीन पुलिस उपाधीक्षक सोनभद्र, निरीक्षक शिव कुमार मिश्र पुत्र रामपाल मिश्र,  निरीक्षक अरविन्द कुमार मिश्र, निरीक्षक योगेन्द्र बहादुर सिंह पुत्र स्व. राम नारायण सिंह‍,  उप निरीक्षक लल्लन प्रसाद यादव पुत्र स्व. दुखी यादव के खिलाफ विभागीय कार्रवाई करने का निर्णय लिया गया है।

सोनभद्र हत्‍याकांड : सीएम ने की बड़ी कार्रवाई, डीएम-एसएसपी हटाये गये

इनके साथ  मुख्य आरक्षी मदन कुमार सिंह पुत्र ठाकुर प्रसाद सिंह,  मुख्य आरक्षी सुधाकर यादव,  मुख्य आरक्षी कन्हैया यादव, आरक्षी प्रमोद प्रताप सिंह, आरक्षी शशिकान्त बेनवंशी पुत्र हवलदार बेनवंशी,  सीपी 1250  सत्यजीत यादव पुत्र स्व. कान्ता प्रसाद यादव, राम जी प्रसाद पुत्र स्व. राजेन्द्र प्रसाद, राजेश पाण्डेय कम्प्यूटर आपरेटर पुत्र राम विलास पाण्डेय, अतुल दूबे तत्कालीन अहलमद फौजदारी कार्यालय तहसीलदार घोरावल (ghorawal), विजय कुमार अग्रवाल वर्तमान सहायक आयुक्त एवं सहायक निबन्धक सहकारिता वाराणसी (varanasi) के विरूद्व किसी आपराधिक कृत्य का साक्ष्य विवेचना से नहीं पाया गया, परन्तु इनके विरूद्व पदीय कर्तव्यों, दायित्वों का निर्वहन न करने तथा उदासीनता बरतने के साक्ष्य पाये जाने के फलस्वरूप विभागीय कार्रवाई किये जाने का निर्णय लिया गया है।

श्रीमती आशा मिश्रा द्वारा जमीन बिक्री कर रूपये 50,00,064/- तथा श्रीमती विनीता शर्मा उर्फ किरन कुमारी द्वारा जमीन बिक्री कर रूपये 59,89,962/- अर्थात कुल रूपये 1,09,90,026 (एक करोड नौ लाख नब्बे हजार छब्बीस रूपये) का लाभ अर्जित किया गया है। इस धनराशि को श्रीमती आशा मिश्रा व श्रीमती विनीता शर्मा उर्फ किरन कुमारी से मय ब्याज के नियमानुसार वसूली किये जाने का निर्णय शासन द्वारा लिया गया है।