प्रशिक्षण कार्यक्रम के अन्तर्गत 14 तारीख तक तीन-तीन घंटे की 6 प्रशिक्षण सत्र की व्यवस्था

  • विधानमंडल की कार्यवाही के पेपरलेस संचालन एवं आईपैड के सुगम क्रियान्वयन हेतु विधानमंडल के सभी सदस्यों का प्रशिक्षण कार्यक्रम प्रारम्भ
  • जितना ज्यादा हमें तकनीकी का ज्ञान होगा एवं जितना ज्यादा हमारे द्वारा इसका इस्तेमाल होगा उतनी ही हमारी तरक्की का रास्ता बेहतर होगा
  • प्रशिक्षण के माध्यम से सूचना को प्राप्त करने, संरक्षित करने, उसपर टिप्पणी करने और इंफॉर्मेशन को प्रयोग कर आवश्यकता पड़ने पर उसे फॉरवर्ड करने की जानकारी दी जाएगी -श्री सुरेश कुमार खन्ना

उत्तर प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के निर्देशों के क्रम में केंद्र सरकार की तर्ज पर उत्तर प्रदेश विधानसभा भी इस बार पेपर लेस बजट प्रस्तुत करने के साथ-साथ प्रदेश सरकार द्वारा 18 फरवरी 2021 से प्रारंभ होने वाली विधानमंडल की कार्यवाही कागज मुक्त (पेपरलेस) संपादित की जाएगी। प्रदेश के सभी विधानसभा व विधान परिषद सदस्यों को विधानमंडल की कार्यवाही के पेपरलेस संचालन एवं आईपैड के सुगम क्रियान्वयन हेतु तीन दिवसीय आईपैड, लैपटाप प्रशिक्षण का कार्यक्रम आज दिनांक 12 फरवरी 2021 से विधान भवन स्थित तिलक हाल में आयोजित किया गया है।

संसदीय कार्य व वित्त मंत्री श्री सुरेश खन्ना ने इस अवसर पर कहा कि हम सब जानते हैं कि तरक्की का मार्ग तकनीक के रास्ते से ही खुलता है। उन्होंने कहा कि जितना ज्यादा हमें तकनीकी का ज्ञान होगा एवं जितना ज्यादा हमारे द्वारा इसका इस्तेमाल होगा उतनी ही हमारी तरक्की का रास्ता बेहतर होगा।

श्री खन्ना ने माननीय मुख्यमंत्री जी को विशेष तौर पर बधाई दी और कहा कि माननीय मुख्यमंत्री जी ने पहले सभी मंत्रियों को टेबलेट उपलब्ध कराया ताकि प्रदेश की कैबिनेट पेपर लेस हो सके और इसके बाद सभी सदस्यों को एक-एक टेबलेट उपलब्ध कराया जा रहा है, ताकि वे सभी लोग भी टेबलेट, कंप्यूटर, आईपैड के माध्यम से बजट सत्र कार्रवाई में प्रतिभाग करें । उन्होने कहा कि वर्तमान समय में इसका बहुत बड़ा उपयोग है, इसकी बहुत बड़ी आवश्यकता है। दुनिया के जितने भी देशों ने तरक्की की उन लोगों ने तकनीकी का सहारा प्राथमिकता के आधार पर किया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की तर्ज पर ही उत्तर प्रदेश सरकार ने भी पेपर लेस बजट पेश करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि पेपर लेस बजट के निर्णय के अनुपालन में ही यह तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम आज से आयोजित किया गया है।

संसदीय कार्य मंत्री ने कहा यह प्रशिक्षण कार्यक्रम 14 तारीख तक चलेगा । उन्होंने कहा कि तीन-तीन घंटे की 6 प्रशिक्षण सत्र की व्यवस्था गई है। 1 से 5 प्रशिक्षण सत्र विधानसभा सदस्यों के लिए एवं छठवां सत्र 14 फरवरी को 2.30 से 5.30 बजे तक विधान परिषद सदस्यों के लिए आयोजित किया गया है।

श्री खन्ना ने बताया कि प्रशिक्षण के दौरान आईपैड का प्रारंभिक ज्ञान सभी सदस्यों को दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि अधिकांश सदस्य स्वयं भी कंप्यूटर, लैपटॉप आईपैड को अपने प्रतिदिन की प्रैक्टिस में शामिल करते हैं, परंतु कुछ सदस्य नहीं करते हैं। माननीय सदस्यों को प्रशिक्षण के माध्यम से यह जानकारी दी जाएगी कि वे सूचना को कैसे प्राप्त एवं प्राप्त सूचना को संरक्षित करें तथा आवश्यकता पड़ने पर उस पर टिप्पणी करना और इंफॉर्मेशन को प्रयोग कर आवश्यकता पड़ने पर उसे फॉरवर्ड कर सकें। हम अपना पासवर्ड डालकर अपनी ईमेल आईडी बनाकर सारी सरकारी सूचना चाहे वह केंद्र सरकार के द्वारा हो अथवा प्रदेश सरकार के द्वारा प्राप्त कर आवश्यकता पड़ने पर उस पर टिप्पणी करें अथवा आवश्यकता के अनुसार उसे आगे भी भेज सकें। उन्होंने कहा कि वर्तमान में हम तकनीकी ज्ञान को स्वीकार करने के लिए तत्पर हैं । जो हमारा उद्देश है उसको लेकर हम इसको बढ़ा रहे हैं। कंप्यूटर ऑपरेशन के माध्यम से दुनिया की बहुत सी चीजों की जानकारी मिलती है। हम दुनिया के तमाम जानकारी इंटरनेट के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं, अगर हम स्वयं आईपैड को चलाना जानेंगे तो इसकी कोई सीमा नहीं है। यह असीमित ज्ञान का माध्यम है, सभी को आईपैड, कंप्यूटर, लैपटॉप का बेसिक ज्ञान अवश्य होना चाहिए।

प्रशिक्षण कार्यक्रम में आए सभी माननीय सदस्यों का प्रशिक्षण के प्रति उत्सुकता को देखते हुए संसदीय कार्य मंत्री ने बधाई देते प्रमुख सचिव संसदीय कार्य श्री जे पी सिंह,प्रमुख सचिव विधान परिषद डाॅ राजेश सिंह,प्रमुख सचिव विधानसभा श्री प्रदीप दुबे के साथ ही प्रशिक्षण कार्यक्रम में एन0आईसी0 के साथ सभी सहयोगी अधिकारियों कर्मचारियों का आभार व्यक्त किया ।