वाराणसी : ट्रक में बनी स्पेशल केबिन से 2.5 करोड़ का गांजा बरामद, तस्करी करने वाला मास्टरमाइंड गिरफ्तार

वाराणसी :  राजस्व आसूचना निदेशालय (डीआरआई) की वाराणसी और गोरखपुर यूनिट और कस्टम विभाग वाराणसी के संयुक्त छापेमारी में ट्रक में बनी स्पेशल केबिन से 2.5 करोड़ रुपए का गांजा बरामद हुआ। टीम को डाफी टोल प्लाजा के पास से सफलता मिली। गुरुवार को टीम को 38.5 कुंटल गांजे की तस्करी की सूचना मिली लेकिन जांच में 17 कुंटल गांजा बरामद हुआ। बीते दिन पकड़े गए अभियुक्तों की निशानदेही पर यह छापेमारी की गई है। वहीं टीम ने दो आरोपियों को भी गिरफ्तार किया है।

जानकारी के मुताबिक डीआरआई वाराणसी और गोरखपुर के साथ कस्टम वाराणसी की टीम ने संयुक्त कार्रवाई की है। इस दौरान बीते दिन 38.5 कुंतल गांजे की तस्करी में गिरफ्तार आरोपियों से मिली जानकारी के बाद टीम ने डाफी टोल प्लाजा पर एक कंटेनर ट्रक को रोका। तलाशी लेने के बाद उसमें लगभग 17 कुंटल गांजा बरामद हुआ है। जिसकी कीमत करीब 2.5 करोड़ रुपये है।

डीआरआई के सीनियर इंटेलिजेंस ऑफिसर ने बताया कि पकड़े गए गांजे को आंध्र प्रदेश के भद्राचलम से ट्रक में बनी स्पेशल कैविटी में छिपा कर रखा गया था। कैविटी का दरवाजा एक छोटी खिड़की के बराबर के आकार का था, जो ड्राइवर के केबिन में खुलता था।

इस केस में जमशेदपुर और मुरादाबाद के रहने वाले दो अभियुक्तों को पकड़ा गया है। इसमें एक अभियुक्त मास्टरमाइंड का राइट हैंड बताया जा रहा है। उन्होंने बताया कि यह गांजा जौनपुर के सतहरिया इंडस्ट्रियल एरिया के पास जाने वाला था और वही किसी गोडाउन में रखा जाता। उसके बाद तस्कर उसे दिल्ली और हरियाणा भेज देते।