यूपीसीएलडीएफ के सभापति वीरेंद्र तिवारी संभाला पद, कहा-लाऊंगा बदलाव

: सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा व न्याय मंत्री ब्रजेश पाठक रहे उपस्थित : लखनऊ : उप्र राज्य निर्माण एवं श्रम विकास सहकारी संघ लिमिटेड के नवनिर्वाचित अध्यक्ष सभापति वीरेन्द्र तिवारी ने मंगलवार को विधि विधान के साथ हवन-पूजन कर अपना कार्यभार ग्रहण किया। प्रदेश के सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा व न्याय मंत्री ब्रजेश पाठक की उपस्थिति में यूपीसीएलडीएफ के सभापति के रूप में औपचारिक पद भार ग्रहण करने के बाद श्री तिवारी ने संकल्प लेते हुए कहा कि निष्ठा, लगन एवं ईमानदारी से अपने दायित्वों का निर्वहन करूंगा।

उन्होंने कहा कि यूपीसीएलडीएफ को भ्रष्टाचार मुक्त, गुणवत्तायुक्त संस्था बनाना मेरी प्राथमिकता होगी। श्री तिवारी ने कहा पूर्ववर्ती सरकारों के समय हुए घोटालों की जांच कराकर भ्रष्टाचार के दोषी अधिकारियों व कर्मचारियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जायेगी। उन्‍होंने सेवारत कर्मचारियों के लम्बित छठे वेतनमान को लागू कराने के लिए शासन स्तर पर प्रयास करने की घोषणा की।

उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकारों के समय शुरू की गयी परियोजनाओं में किये गये आर्थिक घोटालों के कारण लम्बित हुई परियोजनाओं को संस्था अपने स्रोतों से चरणबद्ध तरीके से पूर्ण करायेंगी। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में संस्था गैर मानकीकृत निर्माण कार्यों की लागत 2.5 करोड़ एवं मानकीकृत निर्माण कार्यों की लागत रूपये 5 करोड़ तक के कार्य कराने के लिए ही अधिकृत है। मेरा प्रयास होगा कि उपरोक्त लागत सीमा को और अधिक बढ़ाने की शासन स्तर से मंजूरी मिले सके।

श्री तिवारी ने कहा कि यूपीसीएलडीएफ की विगत वर्षों से चल रही वित्तीय स्थिति को सुदृढ़ करने हेतु शासनस्तर से निर्माण कार्यों को प्राप्त करने का प्रयास करने के साथ ही प्राप्त निर्माण कार्यों को समयबद्ध व गुणावत्तापूवर्क कराने का मेरा प्रयास होगा। इस अवसर पर सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा, न्याय मंत्री ब्रजेश पाठक, एमडी एके सिंह, मुख्य अभियन्ता राजीव कुमार सिन्हा सहित संस्था के अन्य अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने श्री तिवारी को बधाई व शुभकामनाएं दी।