मंत्रिमंडल विस्‍तार का खाका तैयार, ये बन सकते हैं नए मंत्री!

फेरबदल

: शिवप्रकाश एवं बंसल ने की नामों पर चर्चा, मुख्‍यमंत्री से भी हुई बात : कई विवादित मंत्रियों के पर कतरे जाने की संभावना : लखनऊ : उत्‍तर प्रदेश में मंत्रिमंडल फेरबदल को लेकर एक महत्‍वपूर्ण बैठक शनिवार को भाजपा मुख्‍यालय पर राष्‍ट्रीय सहसंगठन मंत्री शिव प्रकाश और प्रदेश महामंत्री सुनील बंसल बीच हुई। इस बैठक में मंत्रिमंडल के संभावित फेरबदल और विस्‍तार को लेकर चर्चा की गई। सूत्रों ने बताया कि इसमें अमित शाह के लखनऊ आगमन के बाद होने वाले मंत्रिमंडल फेरबदल पर चर्चा करने के साथा खाका भी खींचा गया।

उल्‍लेखनीय है कि लंबे समय से उत्‍तर प्रदेश में मंत्रिमंडल फेरबदल की योजना बन रही थी। पहले कर्नाटक चुनाव के बाद उत्‍तर प्रदेश में मंत्रिमंडल में बदलाव करने की योजना थी, लेकिन कर्नाटक में सरकार नहीं बन पाने के बाद इसे टाल दिया गया। तय किया गया कि यूपी उपचुनाव के नतीजों के बाद इस पर फैसला लिया जाएगा। नतीजे पक्ष में नहीं आने के बाद संगठन में गहन मंथन के बाद अब इसकी तैयारी कर रहा है।

बताया जा रहा है कि मंत्रिमंडल में फेरबदल को हरी झंडी अमित शाह ही दिखाएंगे, लिहाजा उनके यूपी प्रवास के पहले संगठन स्‍तर पर इसकी तैयारी की जा रही है। सूत्र बताते हैं कि शिव प्रकाश ने सुनील बंसल के साथ बैठक के बाद मुख्‍यमंत्री से भी इस संदर्भ में चर्चा और वार्ता की। मुख्‍यमंत्री का फीडबैक भी इस विस्‍तार को लेकर लिया गया। संभावना है कि शाम को सुनील बंसल और मुख्‍यमंत्री की बैठक आज शाम को हो सकती है। मुख्‍यमंत्री के ओएसडी अभिषेक भी सुनील बंसल से मुलाकात कर चुके हैं।

संभावना जताई जा रही है कि आगामी लोकसभा चुनाव को ध्‍यान में रखकर फेरबदल किया जाएगा। साथ ही उन मंत्रियों को किनारे कर दिया जाएगा, जिनका परफारमेंस पिछले सवा साल में बेहतर नहीं रहा है। संभावना है कि उन मंत्रियों की भी छुट्टी की जाएगी, जिन पर भ्रष्‍टाचार के आरोप लगे हैं। उन मंत्रियों को प्रमोशन मिल सकता है या अच्‍छे विभाग दिए जा सकते हैं, जिन्‍होंने बेहतर प्रदर्शन किया है।

नए मंत्रियों में जिन नामों की चर्चा है उसमें विजय बहादुर पाठक, अशोक कटारिया, श्रीराम चौहान, राम नरेश रावत के अलावा भी कुछ नामों पर चर्चा है। मंत्रिमंडल से जिनके पत्‍ते कटने या विभाग बदले जाने की अनुमान लगाया जा रहा उसमें रमापति शास्‍त्री, धर्मपाल सिंह, अतुल गर्ग, बृजेश पाठक, स्‍वाति सिंह का नाम प्रमुख है। इसके अलावा भी कुछ का पत्‍ता काटा जा सकता है।